किसानों का Digital अड्डा

Potato Planter Machine: पोटैटो प्लांटर मशीन क्यों है आलू की खेती में फ़ायदेमंद? जानिए इसकी ख़ासियत और दाम

खेती में यांत्रिकरण किसानों के लिए वरदान साबित हो रहा है

पहले हाथ से ही आलू की बुवाई की जाती थी, जो किसानों के लिए एक धीमी और चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया हुआ करती थी। अब एडवांस पोटैटो प्लांटर की मदद से आलू की बुवाई की प्रक्रिया सहज हो गई है।

0

खेती में मशीनों का इस्तेमाल बढ़ता जा रहा है और इसने किसानों का काम आसान बना दिया है। मशीनीकरण से मेहनत और लागत दोनों की बचत होती है। अन्य फसलों के साथ ही अब आलू की खेती में भी यंत्रों का इस्तेमाल हो रहा है। आलू की खेती का एक ऐसा ही यंत्र है पोटैटो प्लांटर (Potato Planter)। दरअसल, यह मशीन आलू की बुवाई करती है और इससे किसानों की श्रम की लागत में काफ़ी बचत होती है। आइए जानते हैं पोटैटो प्लांटर मशीन के क्या फ़ायदे हैं और इसकी क्या कीमत है।

कैसे काम करती है पोटैटो प्लांटर मशीन

जो किसान बड़े पैमाने पर आलू की खेती करते हैं उनके लिए पोटैटो प्लांटर मशीन किसी वरदान से कम नहीं है। मैनुअली आलू की बुवाई में समय और श्रम दोनों अधिक लगता है, मगर इस मशीन की बदौलत बुवाई जल्दी और बिल्कुल सटीक तरीके से होती है। इस मशीन को ट्रैक्टर से जोड़कर इस्तेमाल किया जाता है।

पोटैटो प्लांटर मशीन (Potato Planter Machine)
तस्वीर साभार: ytimg

दो तरह के होते हैं पोटैटो प्लांटर

आलू बोने की मशीन दो तरह की होती है। एक फुली ऑटोमेटिक मशीन होती है। इसमें मैनुअली कुछ नहीं करना होता। आलू की बुवाई के साथ ही खाद डालने का काम और मेड़ भी खुद ही बन जाती है। आलू की बुवाई सटीक तरीके से होती है। बीज निर्धारित गहराई पर गिरता है और मशीन द्वारा ही उसके ऊपर मिट्टी चढ़ा दी जाती है। दूसरी मशीन अर्ध स्वचालित है, जिसमें सबसे पहले आलू को बॉक्स में डाला जाता है। फिर मशीन के ऊपर बैठा व्यक्ति आलू के बीजों को एक कीप में डालता है, जिसके ज़रिए बीज खेतों में गिरते हैं।

पोटैटो प्लांटर मशीन (Potato Planter Machine)
तस्वीर साभार: ytimg

बाज़ार में इन कंपनियों के पोटैटो प्लांटर हैं उपलब्ध

महिंद्रा, शक्तिमान, स्वराज, लैंडफोर्स, सोनालिका, एग्रीस्टार जैसी कई बड़ी कंपनियां आलू बोने वाली पोटैटो प्लांटर मशीन का निर्माण करती हैं। अलग-अलग कंपनियों के पोटैटो प्लांटर की कीमत भी अलग-अलग है। मशीन के कई मॉडल उपलब्ध हैं। आमतौर पर यह 50 हज़ार से लेकर 2 लाख रुपये तक की पड़ती है। पोटैटो प्लांटर की खरीद पर सब्सिडी का भी प्रावधान है।

पोटैटो प्लांटर मशीन (Potato Planter Machine)
तस्वीर साभार: tistatic

पोटैटो प्लांटर मशीन के फ़ायदे

  • इससे आलू के बीजों की बुवाई निश्चित दूरी और गहराई पर होती है। बीज़ों का नुकसान नहीं होता है और फसल भी अच्छी होती है।
  • श्रम की लागत में 50-60 प्रतिशत तक की बचत होती है।
  • मज़दूरी, समय और पैसे तीनों की बचत होती है, जिससे किसानों का मुनाफ़ा बढ़ता है।
  • बीज़ों की बुवाई एक समान होती है, जिससे फसल में अच्छी वृद्धि होती है।

जो किसान बड़े क्षेत्र में आलू की खेती करते हैं और फसल से अच्छा मुनाफ़ा कमाना चाहते हैं उनके लिए यह मशीन बहुत उपयोगी है। इससे उन्हें श्रम की अनुपलब्धता की समस्या का सामना नहीं करना पड़ता है और बुवाई भी कम समय में सटीकता से हो जाती है।

ये भी पढ़ें: आलू की खुदाई को आसान बनाता है Potato Digger, बर्बादी भी नहीं

सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या kisanofindia.mail@gmail.com पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.