किसानों का Digital अड्डा

जानिए कौन-सी औषधि है तोदरी, क्या हैं इसके लाभ और कैसे करें इस्तेमाल

क्या आपने तोदरी का नाम सुना है, क्या आप तोदरी के बारे में जानते हैं, क्या आप तोदरी का इस्तेमाल करना जानते हैं। अगर नहीं तो आज हम आपको तोदरी जो कि एक औषधि है उसके बारे में बताने जा रहे हैं।

क्या है तोदरी

सबसे पहले तो ये जान लीजिए तोदरी सफेद, लाल और पीले रंग तीन प्रकार की होती है। पीले बीज वाली तोदरी सबसे ज्यादा लाभकारी होती है। ये 30 सेमी ऊँचा, छोटे आकार का कांटे वाला एक पौधा है। इसके पत्ते लंबे तथा संकीर्ण होते हैं। इसके बीज मसूर के दाने की तरह लेकिन बहुत छोटे और चपटे होते हैं। इसकी फलियां बहुत छोटी होती हैं। इसके अंकुर अप्रैल से अगस्त तक फूटते हैं।

Kisan of India Youtube

क्या हैं तोदरी के फायदे और कैसे करें इसका इस्तेमाल

दस्त पेचिस में फायदेमंद

खराब दिनचर्चा और बेटाइम खान-पान या किसी संक्रमण की वजह से दस्त या पेचिस की परेशानी है तो तोदरी के पञ्चाङ्ग का काढ़ा बनाकर पीने से फायदा मिलता है। लेकिन 10-20 मिली मात्रा का ही सेवन करें।

Kisan Of India Facebook Page

पेशाब में खून की समस्या में लाभकारी

कई बार देखा जाता है कुछ लोगों को पेशाब में खून आता है। अगर सी समस्या आपको है तो तोदरी पञ्चाङ्ग का काढ़ा बनाकर पीना चाहिए। 10-20 मिली मात्रा में इसका इस्तेमाल करने पर आपको फायदा होगा। साथ ही पेशाब करते वक्त दर्द या जलन की दिक्कत भी दूर होगी।

ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने में भी असरदार

शरीर के विकास के लिए तोदरी लाभकारी है। ब्रेस्ट का आकार बढ़ाने के लिए 2-3 ग्राम तोदरी चूरन में बराबर मात्रा में शतावरी चूरन और मिश्री मिलाकर दूध के साथ लेने से स्तनों का आकार बढ़ जाता है।

Kisan of India Twitter

गठिया के दर्द से देता है राहत

तोदरी का औषधि है। इसका इस्तेमाल गठिया का दर्द दूर करने में किया जाता है। तोदरी पञ्चाङ्ग को पीसकर लगाएं। इससे गठिया का दर्द दूर हो जाएगा। तोदरी के फूलों को जैतून या फिर तिल के तेल में पका लें। इसके बाद तेल को छानकर उससे मालिश करें।

कैसे करें तोदरी का इस्तेमाल

ऊपर हमने आपको कुछ बीमारियों के बारे में बताया है। अगर इनमें से कोई भी दिक्कत आपको है और आप डॉक्टर के पास नहीं जाना चाहते तो आप तोदरी का इस्तेमाल कर सकते हैं। लेकिन हम आपको यही सलाह देंगे कि अगर आप इसका इस्तेमाल कर रहे हैं तो एक बार आयुर्वेदिक डॉक्टर से सलाह जरुर ले लें। डॉक्टर से पूछकर ही 3-6 ग्राम तोदरी का सेवन करें।

कहां और कैसे उगाते हैं तोदरी

तोदरी जितना लाभकारी और गुणकारी है, उतनी दूर इसकी पहुंच है। बता दें कि तोदरी विश्व में दक्षिण यूरोप से साईबेरिया तक और ईरान में होता है। भारत में तोदरी हिमालय और पंजाब में पाया जाता है।

Kisan Of India Instagram

सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।
मंडी भाव की जानकारी
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.