मिट्टी की सेहत

Green Manure Crops हरी खाद वाली फसलें
कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

Green Manure Crops: हरी खाद वाली फसलें कौन सी हैं और कितने प्रकार की होती हैं?

खेती में हरी खाद का मतलब उन सहायक फसलों से है, जिन्हें खेत के पोषक तत्वों को बढ़ाने के मकसद से उगाया जाता है। ये मिट्टी की साथ-साथ फसलों को भी कई लाभ देती हैं।

बायोचार - मिट्टी को उपजाऊ बनाने का तरीका
न्यूज़, मिट्टी की सेहत

जानिए, क्यों अनुपम है बायोचार (Biochar) यानी मिट्टी को उपजाऊ बनाने की घरेलू और वैज्ञानिक विधि?

बायोचार के इस्तेमाल से मिट्टी के गुणों में सुधार का सीधा असर फसल और उपज में नज़र आता है। इससे किसानों की रासायनिक खाद पर निर्भरता और खेती की लागत घटती है। लिहाज़ा, बायोचार को किसानों की आमदनी बढ़ाने का आसान और अहम ज़रिया माना गया है।

GOA BIO-1 से नमक वाली मिट्टी में धान की खेती
कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

GOA BIO-1 से नमक वाली मिट्टी में भी होगी धान की अच्छी पैदावार

गोवा के तटीय इलाकों की मिट्टी में नमक अधिक होने यानी लवणीय मिट्टी होने की वजह से धान की उपज बहुत कम होती थी, जिसका हल वैज्ञानिकों ने एक बायो फॉर्मूलेशन की खोज करके ढूंढ़ निकाला। नमक वाली मिट्टी में सुधार से अच्छी दान की पैदावार ली जा सकती है।

मिट्टी की सेहत (Soil Health) 2
कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

मिट्टी की सेहत (Soil Health): दुनिया भर में ‘बंजर होती धरती’ बनी मानवता के लिए सबसे बड़ी चुनौती

अब तक हम भारत की 29 प्रतिशत ज़मीन को अनुपादक बना चुके हैं या उसकी उत्पादन क्षमता नष्ट कर चुके हैं। देश के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल 32.87 करोड़ हेक्टेयर में से क़रीब 9.64 करोड़ हेक्टेयर ज़मीन की मिट्टी अपक्षरित हो चुकी है। इसका मतलब है कि ऐसी ज़मीन की मृदा की ऊपरी उर्वर परत इतनी नष्ट हो चुकी है वो खेती के लायक नहीं रही।

मिट्टी की सेहत soil health
कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

Soil properties: अच्छी होगी मिट्टी की सेहत तो फसल उत्पादन बेहतर, कैसे पोषक तत्वों का खज़ाना बनती है मिट्टी?

प्रकाश संश्लेषण के तहत धूप, हवा, पानी और मिट्टी से प्राप्त पोषक तत्वों के बीच रासायनिक क्रियाएँ करके पौधे अपना भोजन पकाते या निर्मित करते हैं। मिट्टी से पौधों को 16 पोषक तत्वों की सप्लाई होती है। किसी भी फ़सल का अच्छा विकास और खेती से होने वाले लाभ का दारोमदार इन्हीं पोषक तत्वों पर होता है।

soil health fertile land बंजर भूमि
कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

Soil Health: बंजर भूमि की विकराल होती चुनौती और इसका मुक़ाबला करने के उपाय

बंजर भूमि या मरुस्थलीकरण की समस्या भारत में भी तेज़ी से बढ़ रही है। देश की मरुस्थलीय भूमि अब बढ़ते-बढ़ते 30 फ़ीसदी हो चुकी है। देश की कुल अनुपजाऊ भूमि का 82 प्रतिशत हिस्सा राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, कर्नाटक, झारखंड, ओडीशा, मध्य प्रदेश और तेलंगाना राज्यों में पाया जाता है। लिहाज़ा, इन्हीं राज्यों में मिट्टी को बंजर से उपजाऊ बनाने का काम सबसे ज़्यादा करने की ज़रूरत है।

Soil Health Card
न्यूज़, फसल न्यूज़, मिट्टी की सेहत

Soil Health Card Scheme: मिट्टी की जाँच (Soil Testing) करवाकर खेती करने से 5-6 फ़ीसदी बढ़ी पैदावार

सरकारी लैब में मिट्टी की जाँच मुफ़्त होती है और Soil Health Card दिया जाता है। इसे फ़सल बुआई के वक़्त ही करवाना ज़रूरी नहीं है, बल्कि किसी भी वक़्त करवा सकते हैं। आमतौर पर तीन-चार साल के अन्तराल पर मिट्टी की जाँच करवाकर विशेषज्ञों की राय के मुताबिक़ मिट्टी का उपचार ज़रूर करना चाहिए।

लवणीय मिट्टी
न्यूज़, मिट्टी की सेहत

World Soil Day: लवणीय मिट्टी या रेह मिट्टी के सुधार और प्रबन्धन की best practices?

लवणीय मिट्टी में सोडियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम या उनके क्लोराइड और सल्फ़ेट ज़्यादा मात्रा में होते हैं। ये सभी तत्व पानी में घुलनशील होते हैं। इन्हीं घुलनशील लवणीय तत्वों की सफ़ेद पपड़ी खेत की मिट्टी की ऊपरी सतह पर बन जाती है। लवणीय मिट्टी का प्रकोप अक्सर ऐसी ज़मीन पर नज़र आता है जहाँ जलभराव की समस्या होती है।

मिट्टी जांच केंद्र soil testing lab
कृषि उपकरण, एग्री बिजनेस, प्रॉडक्ट लॉन्च, मिट्टी की सेहत, वीडियो

किसान शुरू कर सकते हैं खुद का मिट्टी जांच केंद्र (Soil Testing Centre), हर्ष दहिया से जानिए कैसे ‘डिजिटल डॉक्टर’ बताएगा मिट्टी की सेहत

किसान अपना खुद का मिट्टी जांच केंद्र शुरू कर सकते हैं। इस ख़ास मशीन के बारे में किसान ऑफ़ इंडिया ने बात की हार्वेस्टो ग्रुप के डायरेक्टर हर्ष दहिया से।

soil health smartphone technique ( मिट्टी की सेहत )
टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फसल प्रबंधन, मिट्टी की सेहत, मोबाइल ऐप्स

अब स्मार्टफ़ोन लगाएगा मिट्टी की सेहत का पता, खेती करना होगा आसान

मृदा स्वास्थ्य जांच की आधुनिक तकनीक में इमेज़ एनालिसिस के जरिये कम समय में मिट्टी की सेहत की सटीक जानकारी किसानों को मिल सकती है।

जैव उर्वरक biofertilizers types
उर्वरक, कृषि उपज, न्यूज़, मिट्टी की सेहत

जैव उर्वरक: कृषि वैज्ञानिक ममता सिंह से जानिए कितने प्रकार के होते हैं Biofertilizers, क्या हैं फ़ायदे

रासायनिक उर्वरकों का इस्तेमाल न कर जैव उर्वरक यानी बायो फ़र्टिलाइज़र (Biofertilizer) का इस्तेमाल करने से एक साथ कई मुश्किलें हल होंगी। फसल के हिसाब से जैव उर्वरक का चयन कर सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया ने मध्य प्रदेश के सागर स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र की कृषि वैज्ञानिक डॉ. ममता सिंह से जैव उर्वरकों के इस्तेमाल को लेकर ख़ास बातचीत की। 

मिट्टी की जांच (Soil Testing Sample)
कृषि वैज्ञानिक, न्यूज़, फसल न्यूज़, मिट्टी की सेहत, वीडियो

जानिए मिट्टी की जांच के लिए कैसे भेजें मिट्टी का सैंपल, कृषि वैज्ञानिक डॉ. नीरज रजवाल ने बताया सही तरीका

आजकल रासायनिक उर्वरक और कीटनाशकों के इस्तेमाल से मिट्टी अधिक प्रदूषित हो रही है। उसकी उपज क्षमता कम होती जा रही है। ऐसे में हर 3 साल में मिट्टी की जांच ज़रूरी है। कृषि वैज्ञानिक डॉ. नीरज रजवाल से जानिए कैसे की जाती है मिट्टी की जांच।

फसलों को मिलेंगे सटीक पोषक तत्व, जानिए IARI के वैज्ञानिक डॉ. प्रवीन कुमार उपाध्याय
कृषि वैज्ञानिक, टेक्नोलॉजी, न्यूज़, फसल प्रबंधन, मिट्टी की सेहत

अब फसलों को मिलेंगे सटीक पोषक तत्व, जानिए IARI के वैज्ञानिक डॉ. प्रवीन कुमार उपाध्याय से उन्नत तकनीकों के बारे में

भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान (IARI) में एग्रोनॉमी डीवीज़न के कृषि वैज्ञानिक डॉ. प्रवीन कुमार उपाध्याय ने फसलों में पोषक तत्व प्रबंधन से जुड़ी कई महत्वपूर्ण जानकारियां बताईं।

world soil day salt in soilविश्व मृदा दिवस
न्यूज़, फसल न्यूज़, मिट्टी की सेहत

Soil Salinity: कैसे नमक से बंजर हो रही खेती की ज़मीनें, ये आंकड़ा देखिए

World Soil Day 2021 पर संयुक्त राष्ट्र ने चेताया है कि अब वक़्त आ गया है मिट्टी की गुणवत्ता को बनाए रखने के लिए इस दिशा में कई कड़े कदम उठाएं जायें। नमक के अंधाधुंध इस्तेमाल से ज़मीन की उत्पादकता घट जाती है, जिससे वो बंजर होती चली जाती हैं।
Story Courtesy: UN News

फलों की खेती
अन्य फल, कृषि उपज, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फलों की खेती, फसल प्रबंधन, मिट्टी की सेहत, राज्य

देसी मिट्टी में विदेशी फलों की खेती से कैसे बढ़ाएं आमदनी, वैज्ञानिक कर रहे हैं शोध

भारत में विदेशी फलों की बढ़ती मांग किसानों की आय दोगुनी करने का अच्छा अवसर बन सकती है। स्वास्थ्य को लेकर विशेष गुणों के कारण इन फलों को लोग देसी फलों की तुलना में ज्यादा कीमत पर खरीद रहे हैं। इसे देखते हुए भारतीय कृषि वैज्ञानिक ये शोध कर रहे हैं कि किन फलों के लिए किस तरह की मिट्टी और जलवायु ज्यादा अनुकूल हो सकती है।

खेती से कमाई बढ़ाने में बेहद मददगार है मिट्टी की जाँच
न्यूज़, मिट्टी की सेहत

खेती से कमाई बढ़ाने में बेहद मददगार है मिट्टी की जाँच

मिट्टी परीक्षण के लिहाज़ से इसका नमूना लेना बेहद महत्वपूर्ण होता है। यदि नमूना सही ढंग से लिया जाए तभी जाँच का नतीज़ा सही मिलेगा और मिट्टी के उपचार का सही तरीका भी तय हो पाएगा। मिट्टी का परीक्षण बुआई के एक महीना पहले कराना चाहिए।

मटका खाद how to make matka khad kaise banaye
उर्वरक, कृषि उपज, जैविक खेती, जैविक/प्राकृतिक खेती, फल-फूल और सब्जी, मिट्टी की सेहत, सब्जी/फल-फूल/औषधि

250 ग्राम गुड़ से बनाएं मटका खाद, फसल की पैदावार हो जाएगी डबल

Organic Farming – मटका खाद १०० प्रतिशत शुद्ध जैविक खाद है। इसका इस्तेमाल करने से पौधे अच्छे से बढ़ते हैं। मटका खाद भी दूसरी जैविक खादों की तरह ही हजार रुपए से भी कम खर्च में हमारे आसपास मौजूद चीजों से ही तैयार हो जाती है। एक मटका खाद एक बीघा के लिए काफी होती है।

नीम neem ke fayde in hindi
उर्वरक, कृषि उपज, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल न्यूज़, मिट्टी की सेहत, सब्जी/फल-फूल/औषधि

अब नीम से बनेगी सस्ती खाद, फसलों की सेहत होगी अच्छी, कीड़े भी मर जाएंगे

नीम की खाद सौ प्रतिशत प्राकृतिक है, जिसके कारण इसे सभी फसलों, फलों और सब्जियों के लिए उपयोगी माना गया है। यह पौधों में पोषक तत्व को बढ़ाती है। इसके प्रयोग से नेमाटोड और अन्य कीटों से सुरक्षा होती है।

Scroll to Top