स्टार्टअप

Mushroom Farming Business Plan मशरूम की खेती
एग्री बिजनेस, न्यूज़, मशरूम, सब्जियों की खेती, स्टार्टअप

Mushroom Farming Business Plan: मशरूम की खेती की शुरुआत कैसे करें और कहां है बाज़ार?

अगर आप मशरूम की खेती के लिए एक बिज़नेस प्लान के साथ काम करें तो आप इस मार्केट में अपनी पकड़ रख सकते हैं। इस लेख में हम मशरूम उगाने के बिजनेस प्लान मॉडल (Mushroom Farming Business Plan) की ज़रूरी डीटेल्स शेयर कर रहे हैं।

गाय के गोबर से सजावटी सामान
एग्री बिजनेस, न्यूज़, स्टार्टअप

गाय के गोबर से सजावटी सामान बनाने का स्टार्टअप शुरू करने वाले करन सिंह से ख़ास बातचीत

करन सिंह बतातें हैं कि कोई भी व्यक्ति गाय के गोबर से सजावटी सामान बनाने का बिज़नेस दो हज़ार से तीन हज़ार रुपए से शुरू कर सकता हैं। इसमें लागत इसलिए कम आती है कि किसान गांव में रहता है और गाय का गोबर भी आसानी से मिल जाता है।

मधुमक्खी पालन
एग्री बिजनेस, कृषि संस्थान, न्यूज़, फ़ूड प्रोसेसिंग, वीडियो, सक्सेस स्टोरीज, स्टार्टअप

कैसे पहाड़ी क्षेत्रों में मधुमक्खी पालन को मिल रहा बढ़ावा? जानिए एक्सपर्ट से क्या हैं योजनाएं

कम लागत और समय में मुनाफ़ा कमाने का एक अच्छा विकल्प है मधुमक्खी पालन जिसे मौन पालन भी कहा जाता है। ख़ासतौर पर पहाड़ी इलाकों में, उत्तराखंड के किसानों और युवाओं को मधुमक्खी पालन के लिए प्रेरित करने में सरकारी संस्थाएं मदद कर रही हैं।

तेंदू पत्ता
न्यूज़, स्टार्टअप

कैसे तेंदू पत्ता बदल रहा छत्तीसगढ़ के आदिवासियों का जीवन? आइए जानिए छत्तीसगढ़ के ‘ग्रीन गोल्ड’ के बारे में

तेंदूपत्ता की खेती में छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश का नाम सबसे आगे आता है। इन दोनों राज्य में इसे हरा सोना भी कहते हैं। इस पत्ते का सबसे ज़्यादा इस्तेमाल बीड़ी बनाने में किया जाता है। तेंदूपत्ता बेचने के बिज़नेस को शुरू करने के लिए लाइसेंस अनिवार्य है। जिसके लिए नगर निगम में जाकर अप्लाई किया जाता है।

केसर की खेती
एग्री बिजनेस, न्यूज़, मसालों की खेती, स्टार्टअप

Saffron Farming: नोएडा के एक छोटे कमरे में केसर की खेती, किसानों को दे रहे हैं ट्रेनिंग

रमेश गेरा ने अपनी इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई 1980 में NIT कुरुक्षेत्र से की। इसके साथ ही रमेश ने कई मल्टीनेशनल कंपनियों में जॉब भी की। नौकरी के दौरान बाहर के देशों में उन्हें कृषि के नए-नए तरीके देखने को मिले। वहां से तकनीक देखकर भारत में केसर की खेती चालू की।

वर्मीकम्पोस्ट व्यवसाय vermicompost business
जैविक/प्राकृतिक खेती, एग्री बिजनेस, न्यूज़, वर्मीकम्पोस्ट, वीडियो, स्टार्टअप

Vermicompost Business: जानिए वर्मीकम्पोस्ट बिज़नेस से जुड़े नोएडा के राम पांडे किन बातों का रखते हैं ध्यान

वर्मीकम्पोस्ट जिसे केंचुआ खाद भी कहा जाता है, पोषक तत्वों से भरपूर जैविक खाद होती है। जिसे गोबर और केंचुए की मदद से तैयार किया जाता है। इस प्रक्रिया में केंचुए बहुत अहम होते हैं। इसलिए केंचुए की सही देखभाल करके बिज़नेस से अच्छा मुनाफ़ा कमाया जा सकता है।

नर्सरी बिज़नेस nursery business
एग्री बिजनेस, न्यूज़, वीडियो, स्टार्टअप

नर्सरी बिज़नेस से सिर्फ मुनाफ़ा ही नहीं, जागरुकता भी फैला रही नागपुर की अलका साहनी

पेड़-पौधे न सिर्फ़ आंखों को सुकून देते हैं, बल्कि हमें ऑक्सीजन की सप्लाई करने के साथ ही पर्यावरण को भी स्वच्छ बनाते हैं। ऐसे में ज़्यादा से ज़्यादा पेड़ लगाने के लिए लोगों को प्रेरित करने के मकसद से ही नागुपर की अलका साहनी ने शुरू किया नर्सरी बिज़नेस।

गोधन एम्पोरियम Godhan Emporium
एग्री बिजनेस, न्यूज़, स्टार्टअप

Agri Business: गोधन एम्पोरियम, छत्तीसगढ़ का अनोखा मॉल, महिलाओं ने गोबर से खड़ा किया एग्री बिज़नेस मॉडल

पर्यावरण और प्रकृति के प्रति बढ़ती जागरुकता का ही नतीजा है कि लोग अब जैविक उत्पादों का ज़्यादा इस्तेमाल करने लगे हैं। गोबर से बने उत्पादों में भी लोगों की दिलचस्पी बढ़ी है। छत्तीसगढ़ में तो गोबर से बने उत्पाद ख़ास शोरूम गोधन एम्पोरियम में बिक रहे हैं।

कर्नाटक श्रुति नर्सरी बिज़नेस karnataka shruti nursery business
सक्सेस स्टोरीज, एग्री बिजनेस, न्यूज़, बिज़नेस न्यूज़, सफल महिला किसान, स्टार्टअप

कर्नाटक की श्रुति नर्सरी बिज़नेस से सालाना कमा रहीं 50 लाख रुपये का मुनाफ़ा, किराए पर ज़मीन लेकर शुरू की थी नर्सरी

वाराश्री फ़ार्म एंड नर्सरी में करीबन 50 लोग काम करते हैं। नर्सरी बिज़नेस में श्रुति की सफलता के लिए उन्हें महिंद्रा एग्रीकल्चर अवॉर्ड 2016’, ‘उद्यान रत्न अवार्ड 2015’ जैसे कई पुरस्कारों से सम्मानित किया जा चुका है।

देसी गाय महाराष्ट्र खिल्लारी नस्ल desi cow in natural farming
एग्री बिजनेस, देसी गाय, न्यूज़, पशुपालन न्यूज़, स्टार्टअप

Agri-Business: देसी गाय के गोबर और गौमूत्र से खड़ा कर सकते हैं बड़ा एग्री-बिज़नेस, महाराष्ट्र के स्वप्निल कुंभार से जानिए देसी गाय की इकॉनमी

गायें सिर्फ़ दूध उत्पादन तक ही सीमित नहीं हैं। देसी गाय के पशुधन से कई चीज़ें बनाई जा सकती हैं। स्वप्निल कुंभार गाय की इसी इकोनॉमिक्स को किसानों तक पहुंचा रहे हैं। किसान ऑफ़ इंडिया ने उनके इस मिशन और कॉन्सेप्ट पर उनसे ख़ास बातचीत की।

एग्री बिज़नेस ग्रामीण महिलाएं rural woman
एग्री बिजनेस, न्यूज़, स्टार्टअप

एग्री बिज़नेस: भुवनेश्वर की इन ग्रामीण महिलाओं ने साथ मिलकर शुरू किए कई Agri-Startups, बनाई अपनी पहचान

ओडिशा के भुवनेश्वर की रहने वालीं इन महिलाओं ने साथ मिलकर स्वयं सहायता समूह बनाया। फिर एक के बाद एक कृषि से जुड़े कई एग्री-बिज़नेस शुरू किए। आइए आपको बताते हैं कि कैसे ये महिलाएं काम करती हैं।

केले के रेशे banana fibre production unit
एग्री बिजनेस, न्यूज़, स्टार्टअप

लखीमपुर खीरी की ये महिलाएं केले के रेशे से तैयार कर रही हैं कई उत्पाद, केले की खेती कर रहे किसानों के लिए आमदनी का अच्छा विक्लप

केले के पौधे से बड़ी मात्रा में रेशा निकलता है, जिसका इस्तेमाल कागज़ और कपड़ा उद्योग में कच्चे माल के रूप में किया जाता है। केले के रेशे से कई उत्पाद तैयार किए जा सकते हैं। ऐसा ही कर रही हैं उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी की ये महिलाएं।

एग्री बिजनेस, अन्य, न्यूज़, पशुपालन, पशुपालन न्यूज़, स्टार्टअप

मधुमक्खी पालन व्यवसाय (Beekeeping): जसवंत सिंह तिवाना ने सिर्फ़ 2 बक्सों से की थी शुरुआत, आज सालाना 2 करोड़ रुपये का कारोबार

आज की तारीख में जसवंत सिंह तिवाना कई युवकों और किसानों को मधुमक्खी पालन के गुर भी सीखाते हैं। मधुमक्खी पालन व्यवसाय में कई बातों का ध्यान रखना भी बहुत ज़रूरी है। क्या हैं वो मुख्य बातें? कैसा रहा उनका सफर? इन सब बिंदुओं पर जसवंत सिंह तिवाना से किसान ऑफ़ इंडिया की ख़ास बातचीत।

प्याज उत्पादक किसानों godaam innovations kalyani shinde
एग्री बिजनेस, न्यूज़, वीडियो, स्टार्टअप

प्याज उत्पादक किसानों के लिए इंजीनियर कल्याणी शिंदे ने किया ऐसा आधुनिक आविष्कार, 25 फ़ीसदी तक कम हुआ नुकसान

बड़ी संख्या में स्टोर किया गया प्याज सड़ जाता है। इससे प्याज उत्पादक किसानों को आर्थिक तौर पर भारी नुकसान होता है। कल्याणी शिंदे ने ऐसी तकनीक पर काम किया, जो किसानों की इस बड़ी मुश्किल का हल कर रही है।

First Bud Organics एग्री-स्टार्टअप
एग्री बिजनेस, न्यूज़, सक्सेस स्टोरीज, स्टार्टअप

First Bud Organics: एक ऐसा एग्री-स्टार्टअप जिसने बिचौलियों की भूमिका को किया खत्म, सीधा किसानों तक पहुंचाया पैसा

इस एग्री-स्टार्टअप की ख़ास बात ये है कि किसान इससे सीधा जुड़े हैं। फ़र्स्ट बड ऑर्गेनिक्स हर्बल टी, शहद, सुपर सीड्स, अचार, मसाले, इम्यूनिटी बूस्टर और पर्सनल केयर से जुड़े कई केमिकल फ़्री ऑर्गेनिक प्रॉडक्ट्स तैयार करता है।

'मशरूम लेडी': 2000 रुपये से शुरू किया मशरूम का बिज़नेस
सक्सेस स्टोरीज, एग्री बिजनेस, फ़ूड प्रोसेसिंग, मशरूम, वीडियो, सफल महिला किसान, सब्जियों की खेती, स्टार्टअप

‘मशरूम लेडी’: 2000 रुपये से शुरू किया मशरूम का बिज़नेस, आज हर दिन 1 टन का हो रहा है उत्पादन

भारत को मशरुम उत्पादन में नंबर 1 देखना चाहती हैं हिरेशा वर्मा

अन्वेषण के जरिए किसान खुद करते हैं अपनी उपज की प्रोसेसिंग 
वीडियो, एग्री बिजनेस, न्यूज़, फ़ूड प्रोसेसिंग, सक्सेस स्टोरीज, स्टार्टअप

अन्वेषण एग्री-स्टार्टअप: इन तीन इंजीनियरों के एक आइडिया ने कैसे गांव के किसानों की बदल दी ज़िंदगी

बाज़ार में किसानों को अपनी फसल सही दाम में बेचने में कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ता है। ऐसे में अन्वेषण उन्हें एक ऐसा प्लेटफॉर्म देता है जिसके ज़रिए किसान अपने उत्पाद को स्वास्थ्य और पोषण को महत्व देने वाले जागरूक उपभोक्ताओं तक पहुंचा सकते हैं।

ऊंटनी के दूध camel milk aadvik
फ़ूड प्रोसेसिंग, एग्री बिजनेस, न्यूज़, पशुपालन, पशुपालन और मछली पालन, स्टार्टअप

ऊँटनी के दूध (Camel Milk) से खड़ा किया करोड़ों का स्टार्टअप, जानिए कैसे Aadvik ब्रांड कर रहा किसानों की मदद

राजस्थान, गुजरात के कई इलाकों में लोग ऊँटनी के दूध के फ़ायदों से वाकिफ़ हैं, लेकिन आ​द्विक फूड ने इसे एक बड़ी आबादी तक पहुंचाने का ज़िम्मा उठाया।

food processing units in india फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट
एग्री बिजनेस, न्यूज़, फ़ूड प्रोसेसिंग, बिज़नेस न्यूज़, स्टार्टअप

Food Processing Unit: फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट खुद खोल सकते हैं फसल उत्पादक, इन बातों का रखें ध्यान

भारतीय फ़ूड प्रोसेसिंग इंडस्ट्री देश के कुल खाद्य बाज़ार का 32 प्रतिशत है, जो भारत के सबसे बड़े उद्योगों में से एक है। ऐसे में किसान अगर खुद की फ़ूड प्रोसेसिंग यूनिट लगाते हैं और अपनी फसल को प्रोसेस कर ग्राहकों तक पहुंचाए तो उन्हें यकीनन मुनाफ़ा होगा।

मशरूम एग्री स्टार्टअप mushroom agri startup
न्यूज़, इवेंट, एग्री बिजनेस, वीडियो, स्टार्टअप

Digital Mushroom Conclave: एग्री स्टार्टअप के युवा उद्यमियों ने क्यों दी बड़ी लागत से मशरूम में शुरुआत नहीं करने की सलाह?

कम जगह और कम लागत वाली खेती और एग्री बिज़नेस के लिए मशरूम से अच्छा कोई विकल्प नहीं है। किसान ऑफ इंडिया के पहले मशरूम डिज़िटल कॉन्क्लेव में कई स्टार्टअप ने दी ये सलाह।

Scroll to Top