किसानों का Digital अड्डा

ट्रैक्टर, पावर टीलर जैसे Agriculture Equipment की खरीद पर सरकार दे रही है 50 फीसदी तक सब्सिडी

आइये जानते हैं किसानों को कौन से कृषि उपकरणों पर कितनी सब्सिडी मिलेगी।

Govt subsidy on tractor and agriculture equipment सरकार के कृषि यांत्रिकीकरण मिशन के अन्तर्गत किसानों को ट्रैक्टर, पावर टीलर, राइस ट्रांसप्लांटर और हार्वेस्टर जैसे कृषि यंत्रों की खरीद पर 30 से 50 फीसदी तक सब्सिडी दी जायेगी ।

Govt subsidy on tractor and agriculture equipment सरकार के कृषि यांत्रिकीकरण मिशन के अन्तर्गत किसानों को ट्रैक्टर, पावर टीलर, राइस ट्रांसप्लांटर और हार्वेस्टर जैसे कृषि यंत्रों की खरीद पर 30 से 50 फीसदी तक सब्सिडी दी जायेगी। ये सब्सिडी कृषि मंत्रालय और कृषि और सहकारिता विभाग की ओर से दी जा रही है।

आइये जानते हैं किसानों को कौन से कृषि उपकरणों पर कितनी सब्सिडी मिलेगी।

मोदी सरकार देगी 65000 करोड़ का पैकेज, फर्टिलाइजर सब्सिडी योजना से कृषकों को होगा लाभ

ट्रैक्टर की खरीद पर सब्सिडी (Subsidy on Tractor)

किसानों को ट्रैक्टर की खरीद पर 30 से 35 फीसदी तक सब्सिडी मिलेगी। एससी, एसटी और गरीब किसानों को 08 से 20 PTO HP ‍‍वाले ट्रैक्टर पर 35 फीसदी तक अनुदान मिलेगा। वहीं दूसरे किसानों को 25 फीसदी तक सब्सिडी मिलेगी। वहीं 20 से 70 PTO HP ‍‍वाले ट्रैक्टर पर भी सरकार 35 फीसदी तक ही सब्सिडी दे रही है। अन्य किसानों को इस ट्रैक्टर की खरीद पर भी 25 फीसदी ही सब्सिडी मिलेगी।

पावर टीलर की खरीद पर सब्सिडी ( subsidy on Power Tiller)

एससी, एसटी और छोटे गरीब किसानों को पावर टीलर की खरीद पर कुल कीमत का 50 फीसदी अनुदान मिलेगा। 8BHP से कम वाले पावर टीलर पर 50 हजार और 8BHP से अधिक वाले पर 75 हजार की सब्सिडी दी जायेगी। वहीं अन्य किसानों को 40 फीसदी ही सब्सिडी मिलेगी।

FY22 : सीधे किसानों के खाते में जाएगी खाद सब्सिडी की राशि, सरकार ने दिए संकेत  

राइस ट्रांसप्लांटर की खरीद पर सब्सिडी ( subsidy on Rice Transplanter)

एससी, एसटी और आर्थिक रूप से कमजोर किसानों को राइस ट्रांसप्लांटर की खरीद पर 50 फीसदी तक की सब्सिडी मिलेगी। यानि किसानों को 90 से 95 हजार तक किसानों को सब्सिडी मिल जायेगी। वहीं अन्य किसानों को 40 फीसदी तक सब्सिडी मिल जायेगी।

मध्यप्रदेश: सोलर पॉवर प्लांट पर 40000 तक की सब्सिडी, जानिए कैसे करें आवेदन

सेल्फ प्रोपेल्ड मशीनरी ( subsidy on Self Propelled Machinery) की खरीद पर सब्सिडी

सेल्फ प्रोपेल्ड मशीनरी के तहत कई छोटी-बड़ी मशीनें आ जाती हैं। रिपेर ( Reaper), फ्रूट प्लकर (Fruit Pluckers) की खरीद पर किसानों को 40 से 50 फीसदी सब्सिडी मिल जायेगी। फ्रूट हार्वेस्टर, फ्रूट ग्रेडर्स और ट्रैक ट्रॉली जैसे कृषि उपकरणों की खरीद पर किसानों पर भी सरकार एक से सवा लाख तक की सब्सिडी दे रही है।

ट्रैक्टर में लगने वाले अन्य उपकरणों पर दी जा रही है सब्सिडी

डिस्क हल, कल्टीवेटर, हैरो, लेवलर ब्लेड और केज व्हील जैसे कृषि यंत्रों पर एससी, एसटी और गरीब किसानों को 15 से 44 हजार तक सब्सिडी दी जा रही है। वहीं फ्यूरर ओपनर, रिडगर और लेजर लैंड लेवलर पर भी करीब 35 हजार तक सब्सिडी मिल जायेगी। अन्य किसानों को 15 हजार तक सब्सिडी मिल जायेगी।

ट्रैक्टर की बेजोड़ खूबियाँ: हाइड्रोलिक और पावर स्टेयरिंग

कृषि उपकरणों पर सब्सिडी (subsidy on agriculture equipment)

अलग-अलग फसल की कटाई करने वाले कृषि यंत्रों पर सरकार 50 फीसदी तक सब्सिडी दे रही है। धान थ्रेशर ( धान की कटाई करने वाला यंत्र) , चैफ कटर और फारेज हार्वेस्टर पर 63 हजार तक सरकार सब्सिडी दे रही है। गन्ना काटने वाले कटर पर 50 से 60 हजार तक सरकार सब्सिडी दे रही है।

नारियल फर्नड चॉपर, हे रेक, बैलर पर भी भी सरकार 50 फीसदी तक सब्सिडी रही है। इसके अलावा कई अन्य कृषि यंत्रों पर भी सरकार की ओर किसानों को आर्थिक मदद दी जा रही है। इसकी अधिक जानकारी के लिए https://rkvy.nic.in/static/schemes/Mechanisation.html पर क्लिक कर देखें।

Kisan Of India Instagram

सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।
मंडी भाव की जानकारी
ये भी पढ़ें:
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.