किसानों का Digital अड्डा

हर खाद के कट्टे के साथ IFFCO दे रहा है दुर्घटना बीमा, किसानों को होगा लाभ

किसानों को अच्छी पैदावार के लिए खाद और उर्वरक की आवश्यकता तो होती ही है। उनकी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए IFFCO किसानों को फर्टिलाइजर्स (Fertilizers) मुहैया करवा रहा है और वो भी दुर्घटना बीमा के साथ।

0

इंडियन फार्मर्स फर्टिलाइजर कोऑपरेटिव लिमिटेड (IFFCO)की ओर से किसानों को बड़ा फायदा दिया जा रहा है। आपको बता दें कि यह दुनिया की सबसे बड़ी और जानी-मानी उर्वरक सहकारिता संस्था है। इस संस्था की ओर से किसानों को खाद के हर कट्टे पर बीमा का फायदा होगा।

ये भी देखें : जानिए क्यों अन्य राज्यों के किसान पंजाब में धान बेचने आते हैं?

ये भी पढ़े: One Nation One Ration Card: राशन कार्ड से मिलेंगे मुफ्त में गेहूं और दाल

अब सर्दियों का मौसम आ चुका है। इस मौसम की शुरुआत में ही रबी की फसलों की बुवाई शुरू हो जाती है। फसल कोई भी हो चाहे सरसों की या गेहूं की किसानों को अच्छी पैदावार के लिए खाद और उर्वरक की आवश्यकता तो होती ही है। उनकी आवश्यकता को ध्यान में रखते हुए इफको किसानों को फर्टिलाइजर्स (Fertilizers) मुहैया करवा रहा है और वो भी दुर्घटना बीमा के साथ।

ये भी पढ़े: कृषि कानून लागू होने के बाद सरकार ने जारी किए फसलों की खरीद के आंकड़े

ये भी पढ़े: किसान-बागवान 2021 तक चुका सकेंगे लोन, ये है पूरी स्कीम

कितना बीमा मिलेगा

गौतमबुद्ध नगर और गाजियाबाद जिले के मुख्य क्षेत्र प्रबंधक बृजवीर सिंह के अनुसार किसानों को खाद का हर कट्टा दुर्घटना बीमा के साथ मिल रहा है। संस्था की ओर से खाद के प्रत्येक कट्टे पर 4000 रुपये तक इंश्योरेंस मिलेगा। इस बीमा के लिए किसानों को जागरूक भी किया जा रहा है। उन्हें बीमा से जुड़ी प्रत्येक जानकारी दी जा रही है। उन्हें बताया जा रहा है कि हर किसान को अधिकतम 25 कट्टों पर तकरीबन एक लाख रुपये तक दुर्घटना बीमा कवरेज मिलेगा।

दुर्घटना बीमा से कितनी राशि किसान को मिलेगी

यदि किसी किसान की दुर्घटना में मृत्यु हो जाती है, तो उसके परिवार को 1 लाख रुपये की राशि प्रदान की जाएगी। इस राशि का भुगतान सीधे बैंक अकाउंट से किया जाएगा। किसान की मृत्यु ना होकर यदि उसके 2 अंगों पर प्रभाव पड़ता है, तो उसके परिवार के सदस्यों को प्रति कट्टे के हिसाब से 2000 रुपये दिए जाएंगे। यदि 1 अंग प्रभावित होता है, तो हर कट्टे पर 1000 रुपये तक मिलेंगे।

दुर्घटना बीमा के लिए कैसे दावा करें

जब भी किसान कोई उर्वरक खरीदता है, तो उसके पास रसीद होती है। जिस किसान के पास उर्वरक खरीदे हुए प्रत्येक कट्टे की रसीद नहीं होगी, वो दुर्घटना बीमा के लिए दावा नहीं कर पाएगा। किसान की मृत्यु हो जाए, या कोई अंग प्रभावित हो उस स्थिति में बीमा राशि का भुगतान कट्टों की रसीद के अनुसार ही किया जाएगा। किसान की मृत्यु होने पर परिवार के सदस्यों को बीमा राशि का दावा करने के लिए पोस्टमार्टम की रिपार्ट होना आवश्यक है।

एनपी खाद के दाम किए कम

किसान जब भी किसी फसल की बुवाई करता है तो उसको दानेदार एनपी खाद (NP fertilizers) की आवश्यकता होती है। इस खाद में नाइट्रोजन, पोटेशियम और जिंक जैसे तत्त्व पाए जाते हैं, जो फसल के लिए फायदेमंद होते हैं। किसानों को ज्यादा फायदा हो, इस बात को ध्यान में रखते हुए इफको ने एनपी खाद के दाम प्रति बोरी के हिसाब से 50 रुपए तक कम कर दिए हैं। अब इसकी कीमत 925 रह गई है।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.