किसानों का Digital अड्डा

किसान सम्मान निधि का नहीं मिल रहा पैसा? पीएम किसान समाधान दिवस में दुरुस्त कराएं गलतियां

 11 अक्टूबर से 13 अक्टूबर तक गलती सुधारने का सुनहरा मौका

उत्तर प्रदेश कृषि विभाग ने सभी ज़िलों के किसानों की पीएम किसान सम्मान निधि को लेकर शिकायतें दूर करने के लिए विशेष अभियान चलाया है। इसके जरिये किसान जान सकेंगे कि कैसे मिलेगी उन्हें लंबित राशि।

0

पीएम किसान सम्मान निधि को लेकर कुछ किसानों की ओर से ये शिकायतें आ रही हैं कि उन्हें पैसा नहीं मिल पा रहा है। कुछ किसानों का ये भी कहना है कि उन्हें शुरुआत में तो किस्त मिली, लेकिन बाद में मिलनी बंद हो गई। किसान ऑफ इंडिया की टीम पीएम किसान सम्मान निधि की पात्रता, आवेदन की प्रक्रिया, आवेदन के दौरान अनिवार्य दस्तावेज़ और लाभार्थियों की सूची में नाम तलाशने का सही तरीका, इन सबकी जानकारी अपने पाठकों को देती रही है। आज हम उन्हीं किसानों के लिए आई एक खुशख़बरी बताने जा रहे हैं।

उत्तर प्रदेश के हर ज़िले में पीएम किसान सम्मान समाधान दिवस

पीएम किसान सम्मान निधि की पिछली किस्त की बात करें तो उत्तर प्रदेश के 1 लाख 20 हज़ार से ज्यादा किसानों के खातों में पैसे नहीं पहुंचे, जिसे लेकर वो परेशान हैं। इन किसानों की ओर से कृषि विभाग में लगातार शिकायतें की जा रही हैं। इन्हीं शिकायतों को दूर करने के लिए उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने पीएम किसान सम्मान समाधान दिवस का आयोजन कराया है। पीएम किसान सम्मान समाधान दिवस सिर्फ एक दिन के लिए नहीं, बल्कि तीन दिन के लिए चलाया जा रहा है, जिसकी शुरुआत 11 अक्टूबर को की गई है, जो 13 अक्टूबर तक जारी रहेगा।

पीएम किसान सम्मान समाधान दिवस में क्या होगा?

उत्तर प्रदेश के सभी जनपदों में अलग-अलग विकास खंडों में कृषि विभाग के तीन दिवसीय कैंप लगाए गए हैं। यहां पीएम किसान सम्मान निधि के वो लाभार्थी किसान जिन्हें पहले राशि मिल रही थी और अब नहीं मिल पा रही है, पहुंचकर ये समझ सकते हैं कि क्यों ऐसा हो रहा है। कृषि विभाग के अधिकारी और तीन दिवसीय शिविर में विभाग की ओर से मौजूद कृषि मित्र ऐसे किसानों की शिकायतों और उनकी फ़ाइल की जांच कर ये पता करेंगे कि क्या आधार वैध है, आधार में दर्ज नाम और पीएम किसान सम्मान निधि में दर्ज लाभार्थी के नाम एक हैं या अंतर है, बैंक पासबुक की प्रति में दर्ज नाम आधार और ज़मीन के दस्तावेज से मेल खाते हैं या नहीं, लेखपाल ने जो प्रमाणपत्र दिया है, क्या उसमें तो कोई त्रुटि नहीं है।

किसानों के इन दस्तावेज़ों के मुताबिक उन्हें सुधार की ज़रूरत बताई जाएगी और सुधार के बाद गलतियां दूर की जाएंगी। पीएम किसान सम्मान दिवस के इन तीनों दिन सिर्फ उन्हीं किसानों की शिकायतें दूर की जानी हैं, जिनकी किस्त नहीं मिल पा रही हैं। पीएम किसान सम्मान निधि का लाभ उठाने के लिए नए लाभार्थी इस दौरान अपना पंजीयन नहीं करा सकेंगे क्योंकि पीएम किसान पोर्टल पर नवीन पंजीयन सुविधा अभी बंद है।

अगर हमारे किसान साथी खेती-किसानी से जुड़ी कोई भी खबर या अपने अनुभव हमारे साथ शेयर करना चाहते हैं तो इस नंबर 9599273766 या Kisanofindia.mail@gmail.com ईमेल आईडी पर हमें रिकॉर्ड करके या लिखकर भेज सकते हैं। हम आपकी आवाज़ बन आपकी बात किसान ऑफ़ इंडिया के माध्यम से लोगों तक पहुंचाएंगे क्योंकि हमारा मानना है कि देश का  किसान उन्नत तो देश उन्नत।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.