किसानों का Digital अड्डा

स्वामित्व योजना का उठाएं लाभ, कैसे करें आवेदन

पीएम मोदी की स्वामित्व योजना का उद्देश्य जमीनी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाना और ग्रामिणों के हक में काम करना है। इस योजना के आ जाने से ग्राम समाज के काम ऑनलाइन होने लगेंगे। इसके साथ ही ग्रामीण लोग अपनी संपत्ति का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन देख पाएंगे। गांव में रहने वाले प्रत्येक नागरिक की संपत्ति की मैपिंग भी की जाएगी। ई-पोर्टल ग्रामीणों की जमीन से संबंधित प्रमाण-पत्र भी देगा।

ग्रामीण स्वामित्व योजना: आज जहां सारी दुनिया आधुनिक बनने की ओर अग्रसर हो रही है, ऐसे में भारत कैसे पीछे रह सकता है। डिजिटल भारत का ऐसा ही सपना हमारे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देखा है। वे भारत को डिजिटल इंडिया बनाने की दिशा में कदम बढ़ा रहे हैं। इसी बात को ध्यान में रखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ग्रामीण स्वामित्व योजना की शुरुआत की।

इस योजना के अंतर्गत एक नए ई-ग्राम स्वराज पोर्टल (E-Gram Swaraj Portal) की शुरुआत की गई। इस पोर्टल पर ग्राम समाज से जुड़ी सभी प्रकार की समस्याओं की जानकारी रहेगी। इस पोर्टल के माध्यम से किसान अपनी जमीन से जुड़ी किसी भी प्रकार की जानकारी भी ऑनलाइन देख सकेंगे।

क्या है स्वामित्व योजना

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि किसानों की भूमि को लेकर लूट बनी रहती है। पीएम मोदी की स्वामित्व योजना का उद्देश्य भूमाफिया की इसी लूट को रोकना है। इस योजना में जमीनी प्रक्रिया में पारदर्शिता लाना और ग्रामिणों के हक में काम करना तय किया गया है। इस योजना के आ जाने से ग्राम समाज के काम ऑनलाइन होने लगेंगे। इसके साथ ही ग्रामीण लोग अपनी संपत्ति का पूरा ब्यौरा ऑनलाइन देख पाएंगे। गांव में रहने वाले प्रत्येक नागरिक की संपत्ति की मैपिंग भी की जाएगी। ई-पोर्टल ग्रामीणों की जमीन से संबंधित प्रमाण-पत्र भी देगा।

इस पोर्टल से ग्राम पंचायत को विकसित करने में केंद्र सरकार को काफी मदद मिल सकती है। स्वामित्व योजना में राज्य सरकार द्वारा अभी सिर्फ 10 जिलों का चयन किया गया है। अन्य जिलों का चयन आने वाले कुछ वर्षों में किया जाएगा। इस योजना में ग्रामीणों को उनकी जमीन का रिकॉर्ड उपलब्ध कराया जाएगा, ताकि उन्हें बिना किसी परेशानी के बैंक से ऋण मिल सके।

इस योजना को प्रारंभिक तौर पर अभी यूपी, महाराष्ट्र, कर्नाटक, उत्तराखंड, मध्यप्रदेश और हरियाणा में शु़रू किया जा रहा है। पीएम मोदी का कहना है कि आने वाले वर्षों में स्वामित्व योजना 2020 के आधार पर ही पंचायती राज दिवस मनाया जाएगा।

पीएम स्वामित्व योजना का लाभ

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि लगभग 5 साल पहले देश की 100 ग्राम पंचायतें ब्रॉडबैंड से जोड़ी गई थीं, लेकिन आज 1,25,000 से भी ज्यादा ग्राम पंचायतों को इंटरनेट का लाभ मिल रहा है। इस तरह सरकारी योजनाओं की जानकारी गांव तक आसानी से पहुंच जाती है। इतना ही नहीं अब गांव के लोग भी मकानों और खेती पर लोन ले सकते हैं। इतना ही नहीं इस योजना से भूमि भ्रष्टाचार और सत्यापन प्रक्रिया को रोकने में मदद मिलेगी। साथ ही स्वामित्व योजना में संपत्ति नामांकन की प्रक्रिया को सरल बनाया गया है। जो किसान ग्राम पंचायत के अंतर्गत आते हैं, उन्हें लोन की सुविधा भी मिल सकेगी।

पीएम स्वामित्व योजना में कैसे करें ऑनलाइन आवेदन

  • आवेदन करने के लिए पीएम स्वामित्व योजना की ऑफिशियल वेबसाइट पर क्लिक करना है।
  • फिर वेबसाइट का होम पेज खुल जाएगा, जिसमें न्यू रजिस्ट्रेशन के ऑप्शन पर क्लिक करें।
  • अब मांगी गई सारी जानकारियों को ध्यान से पढ़ें।
  • अब फार्म को ध्यानपूर्वक भरें और सबमिट का बटन दबा दें।
  • आपका फॉर्म भर चुका है और इससे संबंधित जानकारी आपके मोबाइल नंबर पर एसएमएस या ईमेल द्वारा मिल जाएगी।
  • आवेदन करते समय यह बात जरूर ध्यान रखें कि आपका मोबाइल नंबर आपके आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।
सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।
मंडी भाव की जानकारी
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.