Author name: kisanofindia

Avatar photo
एलोवेरा की खेती aloevera farming
न्यूज़, औषधि, विविध

एलोवेरा की खेती (Aloevera Farming): जानिए कैसे करें , इन बातों का रखेंगे ध्यान तो होगी बढ़िया आमदनी

एलोवेरा की खेती के लिए खाद और कीटनाशक की कोई विशेष आवश्यकता नहीं होती। ऐसे ही कई कारण हैं कि एलोवेरा की खेती की ओर किसानों का रुझान लगातार बढ़ रहा है।

जिरेनियम की खेती geranium farming
एग्री बिजनेस

देश में जिरेनियम की खेती की अपार संभावनाएं, जानिए क्यों कृषि वैज्ञानिक दे रहे इसकी खेती पर ज़ोर

जिरेनियम एक शाकीय पौधा है। इसकी खेती के लिहाज़ से सुखद ये है कि CSIR-CIMAP ने इसकी अनेक प्रजातियाँ विकसित की हैं। जानिए जिरेनियम की खेती की कहां से ल सकते हैं ट्रेनिंग।

जिरेनियम की खेती geranium farming
एग्री बिजनेस, न्यूज़

जिरेनियम की खेती (Geranium Cultivation): नयी तकनीक से घटी लागत और जल्द पैदावार

उत्तर प्रदेश के सम्भल, बदायूँ, कासगंज जैसे कई ज़िलों में CSIR-CIMAP की ओर से विकसित नयी विधि से जिरेनियम की खेती की जा रही है। जानिए क्या है नयी तकनीक और कैसे किसानों को हो रहा इससे फ़ायदा।

चनामित्र ऐप (Chanamitra)
टेक्नोलॉजी, न्यूज़, मोबाइल ऐप्स

चनामित्र ऐप (Chanamitra): क्षेत्र विशेष के अनुसार चने की उन्नत फसल से जुड़ी हर जानकारी आपके मोबाइल (Mobile) पर

चना उत्पादकों का सच्चा साथी है चनामित्र ऐप (Chanamitra) जो उन्न्त बीज से लेकर कीट प्रबंधन से जुड़ी हर जानकारी प्रदान करके किसानों को अधिक पैदावर में मदद करता है।

सूअर पालन (pig farming app)
पशुपालन और मछली पालन, टेक्नोलॉजी, न्यूज़, पशुपालन, मोबाइल ऐप्स, सूअर पालन

सूअर पालन का व्यवसाय (Pig Farming) करना चाहते हैं, तो आज ही डाउनलोड करें शूकर पालन ऐप (Pig Farming App)

सूअर पालन का बिज़नेस करना चाहते हैं तो इस ऐप के ज़रिए आपको हर छोटी-बड़ी जानकारी मिल जाएगी।

cashew farming (काजू की खेती) cashew apple powder
अन्य फल, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फलों की खेती

काजू की खेती (Cashew Farming): कैश्यू एप्पल पाउडर (Cashew Apple Powder) से डबल होगा फ़ायदा, जानिए क्या है तकनीक

काजू की खेती कर रहे किसानों को काजू के फल का पाउडर बनाने पर फायदा तो होगा ही, इससे ग्रामीण इलाके में रोज़गार भी बढ़ेगा।

हाइड्रोपोनिक खेती तकनीक बेहद मददगार
न्यूज़

मिट्टी रहित खेती (Hydroponic Farming): क्यों हाइड्रोपोनिक खेती Game Changer तकनीक है?

मिट्टी, ज़्यादा जगह और पोषक तत्वों की कमी जैसी समस्याओं का हाइड्रोपोनिक खेती समाधान हो सकती है। जानिए कैसे बेहद असरदार तकनीक है हाइड्रोपोनिक।

काली मिर्च की खेती (Black Pepper Farming)
न्यूज़, काली मिर्च, मसालों की खेती

Black Pepper Farming: अगर आप काली मिर्च की खेती शुरू करने वाले हैं तो जानिये क्यों है ये किसानों के लिए मुनाफ़े का सौदा?

काली मिर्च अन्य मसालों से महंगी मिलती है और इसकी मांग लगातार बढ़ती जा रही है। ऐसे में काली मिर्च की खेती करके किसान बहुत मुनाफा कमा सकते हैं। आइए, जानते हैं इसकी खेती से जुड़ी कुछ ज़रूरी बातें।

ब्रोकली की खेती Broccoli farming
एग्री बिजनेस, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल न्यूज़, ब्रोकली, सब्जियों की खेती

ख़रीदार मिल जाएं तो ब्रोकली की खेती में है ज़बरदस्त मुनाफ़े की गारंटी, Broccoli का दाम फूल गोभी से कई गुना महंगा

ब्रोकली काफ़ी हद्द तक फूल गोभी की तरह ही है। लेकिन सीज़न में जहाँ फूल गोभी का दाम कौड़ियों के भाव हो जाता है, वहीं ब्रोकली की कीमत 30 से 50 रुपये प्रति किलोग्राम तक मिल जाती है। अलबत्ता, ये कीमतें तभी आकर्षिक लगेंगी जब बाज़ार में ब्रोकली को खरीदार मिल जाएँ। इसीलिए ब्रोकली की खेती में हाथ आज़माने से पहले बाज़ार की नब्ज़ पर परखना बहुत ज़रूरी है।

सफ़ेद मूसली के लिए खेत की तैयारी
एग्री बिजनेस, औषधि, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल न्यूज़, विविध, सब्जी/फल-फूल/औषधि

Safed Musli in Hindi: सफ़ेद मूसली या सतावर की खेती में 10-12 लाख रुपये का मुनाफ़ा!

यदि सूझबूझ के साथ और वैज्ञानिक तरीके से सफ़ेद मूसली या सतावर की खेती की जाए तो ये फसल किसान को खुशहाल बना सकती है। बाज़ार में उम्दा मूसली का दाम 1000-1500 रु. प्रति किलोग्राम तक मिल सकता है। मझोले किस्म की फसल का दाम 700-800 रु. प्रति किलो और हल्की किस्म का दाम 200-300 रु. प्रति किलोग्राम तक मिलता है। सफ़ेद मूसली की उन्नत खेती पर प्रति एकड़ लागत करीब 5-6 लाख रुपये बैठती है और यदि उपज का दाम औसतन 1.2 लाख रुपये प्रति क्विंटल भी मिला और यदि प्रति एकड़ औसत उपज करीब 15 क्लिंटल भी रही तो उपज का दाम करीब 18 लाख रुपये बैठेगा। इसमें से लागत घटा दें तो किसान को प्रति एकड़ 10-12 लाख रुपये का शुद्ध मुनाफ़ा मिलेगा।

फालसा की खेती
न्यूज़

फालसा की खेती (Falsa Farming): खराब से खराब जमीन से लेकर बंजर ज़मीन में उगता है फालसा, जानिए इस फल की ख़ासियत

असिंचित क्षेत्रों के किसानों के लिए फालसा की खेती वरदान साबित हो सकती है क्योंकि इसके पौधे अनुपजाऊ, खराब, घटिया, पथरीली या बंजर मिट्टी में भी पनप सकते हैं। फालसा सूखा रोधी होते हैं। इन पर प्रतिकूल मौसम का बहुत कम असर पड़ता है।

रवि प्रसाद केले के कचरे banana agriculture waste
न्यूज़, सक्सेस स्टोरीज

रवि प्रसाद ने केले के कचरे से खड़ा कर दिखाया ग्रामीण उद्योग, जानिए कैसे रोज़गार का ज़रिया बनी केले की खेती

उत्तर प्रदेश के कुशीनगर ज़िले के रवि प्रसाद ने रोज़गार के अवसर विकसित करने की सराहनीय उपलब्धि हासिल की है। वो केले के रेशे से कालीन, चप्पल, टोपी, बैग और डोरमैट वग़ैरह बनाते हैं। अपने इस व्यवसाय से उन्होंने कइयों को रोज़गार दिया है।

बुरांश फूल से कोरोना का इलाज IIT mandi Covid 19 treatment buransh flower
न्यूज़

दिलीप संघाणी बने IFFCO के नए अध्यक्ष, कहा- किसानों के हित में लगातार करते रहेंगे काम

19 जनवरी को इफको के सर्वोच्च शासी निकाय निदेशक मंडल (Board of Directors) ने दिलीप संघाणी को IFFCO का 17वां अध्यक्ष निर्वाचित किया।

Bud chip technology in sugarcane farming
कृषि उपज, कृषि वैज्ञानिक, गन्ना, टेक्नोलॉजी, न्यूज़, फसल न्यूज़, फसल प्रबंधन

Bud chip technology in sugarcane farming: गन्ने की खेती में बडचिप तकनीक से घटेगी लागत, बढ़ेगी उपज और मुनाफ़ा

गन्ना विकास विभाग द्वारा उत्तर प्रदेश के 36 गन्ना बहुल जिलों में स्वयं सहायता समूह बनाए गए हैं। बडचिप तकनीक से ग्रामीण क्षेत्रों में महिलाओं के लिए रोज़गार के अवसर बड़े हैं।

अधिक कमाई के लिए खेती के साथ मधुमक्खी पालन व्यवसाय बना महिला किसान के लिए जरिया
सक्सेस स्टोरीज

Beekeeping: मधुमक्खी पालन में ट्रेनिंग लेकर इस महिला किसान को हुई 10 हज़ार रुपये की अतिरिक्त कमाई

महिलाएं अब खेती-बाड़ी में भी सिर्फ़ पुरुषों की सहायक नहीं रह गई हैं, बल्कि आगे बढ़कर कृषि और संबद्ध क्षेत्रों में दूरदर्शिता और मेहनत के बल पर एक नया मुक़ाम हासिल कर रही हैं।

सीएलसीसी - कस्टमाइजड लीफ-कलर-चार्ट (सीएलसीसी) तकनीक से कम करें गेहूं की फसल में यूरिया की खपत
न्यूज़, फसल न्यूज़

Customised leaf color chart technique: कस्टमाइजड लीफ-कलर-चार्ट (सीएलसीसी) तकनीक से कम करें गेहूं की फसल में यूरिया की खपत

फसलों में यूरिया (Urea) के अत्यधिक इस्तेमाल को कंट्रोल करने के उद्देश्य से कृषि वैज्ञानिकों ने कस्टमाइजड लीफ-कलर-चार्ट (सीएलसीसी) तकनीक विकसित की है।

सुभाष पालेकर - ज़ीरो बजट प्राकृतिक खेती
ज़ीरो बजट खेती, जैविक/प्राकृतिक खेती, न्यूज़

Zero Budget Natural Farming: इस शख्स ने ईज़ाद किया ज़ीरो बजट प्राकृतिक खेती का कांसेप्ट, सरकार क्यों दे रही इस पर ज़ोर?

मौजूदा सरकार किसानों को ज़ीरो बजट फार्मिंग या खेती के लिए प्रोत्साहित करने के लिए कई प्रकार की मदद दे रही है। जानिए किसने की ज़ीरो बजट प्राकृतिक खेती की शुरुआत।

ICAR Significant achievements
न्यूज़

Year Ender 2021: कृषि विकास के लिए उठाए गए ICAR के बड़े कदम, तकनीक से लेकर कई किस्मों पर किया काम

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (ICAR), कृषि में निरन्तर विकास और किसानों के लिए खेती-किसानी को लाभकारी बनाने की दिशा में काम करता रहा है। हम आपको इस लेख में ICAR की बड़ी उपलब्धियों के बारे में बता रहे हैं।

वैज्ञानिक तरीके से खेती dairy farming
पशुपालन और मछली पालन, न्यूज़, पशुपालन

ट्रेनिंग और वैज्ञानिक तरीके से खेती-किसानी के क्या हैं फ़ायदे, पढ़िए तमिलनाडू की एस. लक्ष्मी की कहानी

वैज्ञानिक तकनीक अपनाकर न सिर्फ लक्ष्मी ने अपने जीवन स्तर में सुधार किया, बल्कि समय के साथ उनका डेयरी उद्योग भी विकसित होता जा रहा है। जानिए लक्ष्मी ने किस तरह से तकनीक से तकदीर बदली।

chana disease चने की खेती (Chickpea Farming) चने के रोग
न्यूज़

चने की खेती (Chickpea Farming): इस समय चने की फसल पर लग सकते हैं ये गंभीर रोग, ऐसे करें बचाव

रबी सीज़न में देश के कई किसानों ने अपने खेतों में चने की फसल की बुवाई की हुई है। चने की खेती (Chickpea Farming) कर रहे किसानों को इस वक़्त फसल पर कई बीमारियों के लगने का डर रहता है। आइए जानते हैं उन रोगों के बारे में और उनके उपचारों के बारे में।

Scroll to Top