किसानों का Digital अड्डा

वो 10 सजावटी पौधे जो हवा के सफ़ाईकर्मी और ऑक्सीजन प्लांट भी हैं

नासा ने भी इन्हें हवा के ज़हरीले तत्वों को सोखने वाला बताया है

नासा ने 10 ऐसे पौधों (सजावटी पौधे) की पहचान की जो हवा में मौजूद ज़हरीले तत्वों को अवशोषित करने में माहिर हों। ये तत्व हैं – बेंजीन (benzene), फॉर्मेल्डिहाइड (formaldehyde), ज़ाइलीन (xylene), टोलुइन (toluene) और ट्राईक्लोरोएथिलीन (trichloroethylene).

0

कोरोना काल में घरों में रखे जाने वाले ऐसी सजावटी पौधों के प्रति लोगों की रुचि ख़ासी बढ़ी है जिनका विशेषता है हवा में मौजूद प्रदूषणकारी रसायनों को अपशोषित करके बदले में भरपूर ऑक्सीजन वाली साफ़ हवा देना। ये हैं ऐसे दस सजावटी पौधे, जिन्हें घरों या दफ़्तरों में रखने की सिफ़ारिश अमेरिकी अंतरिक्ष संस्था ‘नासा’ ने की है। दरअसल, नासा ऐसे पौधों की पहचान करना चाहता था जो अंतरिक्ष में मौजूद उसकी प्रयोगशालों की हवा को प्राकृतिक तरीके से डी-टॉक्सीफाई या प्रदूषण मुक्त बनाने में मददगार हों।

अपने वैज्ञानिक परीक्षणों के ज़रिये नासा ने उन पौधों की पहचान की जो हवा में मौजूद ज़हरीले तत्वों को अवशोषित करने में माहिर हों। ये तत्व हैं – बेंजीन (benzene), फॉर्मेल्डिहाइड (formaldehyde), ज़ाइलीन (xylene), टोलुइन (toluene) और ट्राईक्लोरोएथिलीन (trichloroethylene).

1. मनी प्लांट (Money Plant)

मनी प्लांट बेहद कम रोशनी वाले कमरों में भी आसानी से बढ़ने वाला और तेज़ी से ऑक्सीजन बनाने वाला और विषैले रसायनों को सोखने वाला पौधा है। इसे किसी भी कमरे या छायादार जगह पर रख सकते हैं। लेकिन इसके पत्तों को खाने से बच्चों और पालतू जानवरों को उल्टी-दस्त, चेहरे और जीभ पर सूजन हो सकती है। मनी प्लांट के लिए सीधी धूप मुफ़ीद नहीं होती। इसे हफ़्ते में एक बार पानी देना चाहिए।

Money Plant - Kisan Of India

2. एलोवेरा (Aloe Vera)

एलोवेरा औषधीय गुणों से भरपूर है। इसे खूब धूप और बेहद कम सिंचाई की ज़रूरत होती है। शुष्क जलवायु और बंजर ज़मीन का ये पौधा व्यासायिक खेती से लेकर सजावटी पौधे तक हरेक भूमिका में फिट बैठता है। ये हवा के ज़हरीले तत्वों को सोखता है। एलोवेरा को उन खिड़कियों पर रखना चाहिए जहाँ धूप आती हो।

Aloe Vera - Kisan Of India

3. मदर इन लॉ’ज टंग (Mother in Law’s tongue)

मदर इन लॉज टंग को बोलचाल में ‘सास की जीभ’ और स्नेक प्लांट (Snake plant) भी कहते हैं। ये रात में खूब ऑक्सीजन बनाता है। इन्हें बेड रूम में भी रख सकते हैं। इन्हें कम पानी की ज़रूरत पड़ती है और खिड़की से आने वाली धूप पाकर ये खूब तेज़ी से बढ़ते हैं।

Snake Plant - Kisan Of India

ये भी पढ़ें – इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ खेती को अपनाया, आज कमा रहे करोडों रुपये सालाना

4. अरेका पॉम (areca palm)

अरेका पाम भी ऑक्सीजन छोड़ने वाला पौधा है। इसे हल्की धूप या रोशनी और मामूली सा पानी चाहिए होता है। घरों के इसके कई पौधे रखे जा सकते हैं। ये लिविंग रूम की शोभा बढ़ाकर सकात्मक ऊर्जा देता है।

Areca Palm - Kisan Of India

5. चाइनीज एवरग्रीन (Chinese Evergreen)

चाइनीज एवरग्रीन को थोड़ी सर्द जलवायु पसन्द है। इसीलिए घरों में रहने वाला 18-27 डिग्री सेल्सियस का तापमान और कम रोशनी वाले माहौल में ये अच्छी तरह लेकिन धीरे-धीरे पनपते हैं। इसकी बड़ी-बड़ी पत्तियाँ हवा के ज़हरीले तत्वों को सोखते हैं। इसे कभी-कभार ही पानी देना चाहिए। चाइनीज एवरग्रीन को लिविंग रूम या बरामदे में रखना चाहिए। पालतू जानवरों के लिए इसके पत्ते विषैले साबित हो सकते हैं।

Chinese Evergreen

6. गरबेरा डेजी (Gerbera Daisy)

गरबेरा डेजी को अपने खूबसूरत फूल की वजह से सजावट के काम में भी इस्तेमाल करते हैं। ये रात में भी ऑक्सीजन बनाते हैं। इन्हें सूरज की सीधी रोशनी की भी ज़रूरत होती है। इसलिए इसे कुछ घंटे की सीधी धूप में भी ज़रूर रखा जाना चाहिए। इसे ऐसे बेडरूम में रखना चाहिए जिसमें सीधी धूप आती हो। गरबेरा डेजी की मिट्टी को नियमित रूप से पानी देना ज़रूरी है। वर्ना, ये कुम्भलाने लगते हैं।

Gerbera Daisy - Kisan Of India

ये भी पढ़ें – जैविक खेती से रंजीत सिंह ने कमाई खुशहाली और शोहरत

7. रिबन प्लांट या स्पाइडर प्लांट (Spider plant)

रिबन प्लांट को स्पाइडर प्लांट भी कहते हैं। ये ज़्यादा ठंड और गर्मी दोनों सहते हुए ख़ूब ऑक्सीजन देते हैं। इसकी पत्तियाँ बच्चों और पालतू जानवरों को नुकसान नहीं पहुँचाती है। स्पाइडर प्लांट को बेडरूम या लिविंग रूम, कहीं भी रख सकते हैं। इसकी मिट्टी में नमी रहे तो ये स्वस्थ रहते हैं। इसीलिए एक-दो दिन के अन्तराल पर पानी देकर पौधे की मिट्टी को सूखने नहीं देना चाहिए।

Spider Plant - Kisan Of India

8. बैम्बू पाम (Bamboo palm)

बैम्बू पाम (Bamboo palm) को ‘ब्रॉड लेडी पाम’ भी कहते हैं। ये अपने हमारे आसपास की हवा को साफ़ करते उसमें ऑक्सीजन घोलता रहता है। इसमें अमोनिया सोखने का भी गुण है। लेकिन इसे सीधी धूप पसन्द नहीं है, क्योंकि इससे इसके पत्तों का रंग फ़ीका पड़ने लगता है। बैम्बू पाम को बाथरूम के पास या लिविंग रूम के कोने में रखना चाहिए और रोज़ाना पानी देना चाहिए।

Bamboo Palm - Kisan Of India

9. वीपिंग फिग (Weeping Fig)

वीपिंग फिग ऐसा पौधा है जो गमलों के अलावा बाग़ीचों के लिए भी खूब पसन्द किया जाता है। इनके तनों से ही तेज़ी से जड़ें निकलने लगती हैं। यही जड़ें ज़मीन तक पहुँचने पर पौधे या पेड़ का अतिरिक्त तना बन जाती हैं। इसकी पत्तियाँ नीचे लटकती हुई ऐसी दिखती हैं जैसे आँखों से आँसू टपक रहे हों। ये तेज़ी से ऑक्सीजन छोड़ते हैं। इसे बालकनी या लिविंग रूम में धूप वाली जगह पर रखना चाहिए। पालतू जानवरों को इससे एलर्जी भी हो सकती है। सर्दियों में ये मौसम सूख जाता है। तब इसे पानी या खाद नहीं देते हैं। लेकिन जब मौसम बदलने के बाद इसमें कोपलें फूटती हैं तब खाद-पानी ज़रूर देना चाहिए।

Weeping Fig - Kisan Of India

ये भी पढ़ें – बाँस के उत्पादों को बढ़ावा देने के लिए जम्मू-कश्मीर में बनेंगे तीन क्लस्टर

10. ड्रैगन ट्री (Dragon Tree)

ड्रैगन ट्री को लाल सिरों वाला ड्रैसिनिया (Red-edge Dracaena) भी कहते हैं। यह हमेशा हरा-भरा रहता है और 2 से 5 मीटर तक ऊँचा हो सकता है। इसे धूप की ज़रूरत पड़ती है। इसे साधारण सिंचाई चाहिए ताकि इसकी मिट्टी में नमी बनी रहे। इसे बालकनी या लिविंग रूम में ऐसी जगह पर रखें जहाँ धूप मिल सके।

Dragon Tree - Kisan Of India

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.