किसानों का Digital अड्डा

Krish-e App देता है कृषि उपकरण किराये पर लेने की सुविधा, मिलती है खेती से जुड़ी हर सलाह

अपने हर एक लेन-देन का भी रख सकते हैं रिकॉर्ड

कई बार किसानों को फसल समाधान, उर्वरक प्रबंधन, कीट प्रबंधन, फसल का रखरखाव, मिट्टी की जांच, फसल रोग के बारे में जानकारी के अभाव में नुकसान झेलना पड़ता है। ऐसे में Krish-e App किसानों की इन परेशानियों को दूर करने में मददगार हो सकता है।

कृष-ई ऐप एक ऐसा कृषि ऐप है, जो किसानों को खेती से जुड़ी महत्वपूर्ण जानकारी और व्यक्तिगत फसल कैलेंडर के बारे में बताता है। यह ऐप तकनीकी जानकारी के साथ ही, किसानों को विशेषज्ञ अनुभव का भी लाभ देता है। इस ऐप के इस्तेमाल से  किसान अपनी फसल की पैदावार बेहतर कर अधिक लाभ कमा सकते हैं। यह ऐप किसानों को खेती और फसलों से जुड़ी कई तरह की सलाह भी देता है।

पर्सनलाइज़्ड क्रॉप कैलेंडर

  • खेती से जुड़ी हर ज़रूरत के लिए पर्सनलाइज़्ड क्रॉप कैलेंडर (व्यक्तिगत फसल सलाह) प्रदान करता है।
  • यह कैलेंडर आपके खेत के स्थान, फसल, मौसम, खेत के आकार, रोपण सामग्री, बुवाई की तारीख और अन्य मापदंडों के आधार पर प्रत्येक खेत के लिए व्यक्तिगत खेती-बड़ी की जानकारी प्रदान करता है।
  • खेती से जुड़ी मूहत्वपूर्ण जानकारी के साथ-साथ, फसल कैलेंडर किसानों को उनकी हर गतिविधि को लागू करने की एकदम सटीक तारीख़ भी सूचित करता है। यह गणना वैज्ञानिक रूप से की जाती है, जिसके लिए रिसर्च के साथ ही मौसम का पूर्वानुमान भी लगाया जाता है।
  • यह फसल की पैदावार बढ़ाने के लिए ज़रूरी उर्वरक, रसायन और अन्य उत्पादों की सही खुराक के बारे में भी बताता है।

ऐप की अन्य विशेषताएं

  • ऐप गन्ना, आलू, सोयाबीन, मिर्च, कपास और धान की खेती के लिए विशेषज्ञ सलाह देता है।
  • सभी प्रकार के लेनदेन को रिकॉर्ड करने के लिए एक डिजिटल डायरी की सुविधा इसमें मिलती है, जिसे ‘डिजिटल खाता’ कहा जाता है।
  • किसानों को उनके वित्त पर नज़र रखने में मदद करने के लिए ‘लेन-डेन डायरी’ की सुविधा।
  • ऐप किसानों को फसल की बामारियों और कीट प्रबंधन के बारे में भी जानकारी देकर फसल खराब होने से बचाता है।
  • Krish-e ऐप के के ज़रिये किसान खेती के उपकरण रेंट पर ले सकते हैं
  • साथ ही खेती से जुड़ा कोई भी सवाल या  समस्या के हल के लिए आप इस नंबर 18002661555 पर कॉल कर सकते हैं। कृषि सलाहकार आपको फसल चक्र, आलू बीज उपचार, फसल समाधान, उर्वरक प्रबंधन, कीट प्रबंधन, फसल का रखरखाव, मिट्टी की जांच, फसल रोग के बारे में जानकारी देंगे।
Krish-e App
तस्वीर साभार: Krish-e App

अपने लेन-देन का डाल सकते हैं ब्योरा  

ये ऐप किसानों के लिए एक डायरी या कहे खाते का रिकार्ड रखने का भी काम करता है। डिजिटल फ़ार्म डायरी में किसान खेती में होने वाले हर छोटे और बड़े ख़र्च जैसे ख़रीद-बिक्री, लेन-देन, उधार या उस समय किए गए अन्य खर्चों के बारे में लिख सकते हैं। ऐप में ही ऑटो कैलकुलेटर की सुविधा दी गई है यानी संख्या डालते ही वो अपने आप कैल्क्युलेट हो जाएगी।

8 भाषाओं में उपलब्ध

Krish-e ऐप अंग्रेज़ी, हिंदी, मराठी, तेलगू, कन्नड़, तमिल, गुजराती, पंजाबी भाषाओं में उपलब्ध है। इस ऐप का मकसद किसानों की प्रति एकड़ पैदावार बढ़ाकर उनकी आमदनी बढ़ाना है। ऐप को इस तरह से बनाया गया है ताकि किसान इसमें दी गई ज़रूरी सलाह को आसानी से समझकर उसे अपना सके। ऑडियो और वीडियो कॉन्टेंट के ज़रिए किसानों को उनकी चुनी हुई भाषा में कृष-ई ऐप के लाभों के बारे में बताता है। 

Krish-e App
तस्वीर साभार: Krish-e App

कैसे करें डाउनलोड?

Krish-e ऐप गूगल प्ले स्टोर से आसानी से डाउनलोड किया जा सकता है। प्ले स्टोर पर ये ऐप Krishe: Farming & agriculture app for Kisan Krishi के नाम से आपको मिल जाएगा। ऐप इंस्टॉल करते ही आपको इसमें अपना नंबर डालना है और फिर फोन पर आए OTP को भर देना है। फिर आप इसे इस्तेमाल कर सकते हैं। 

खेती का पारंपरिक तरीका अब पुराना हो गया है। आज के ज़माने में खेती से जुड़ी नई-नई तकनीक इजाद की जा रही है ताकि फसल की पैदावर अधिक होने के साथ ही, किसानों को कम मेहनत में अधिक मुनाफा हो और उनके जीवन स्तर में सुधार हो सके।

ये भी पढ़ें- FarmTree App: ऐसा Agri App जो उन्नत पेड़ प्रजातियों की खेती कर रहे किसानों की हर मुश्किल करता है आसान

सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।

You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.