किसानों का Digital अड्डा

Horticultural Crops: बागवानी फसलों के उत्पादन का नया रिकॉर्ड बनने का अनुमान, जानिए आंकड़े

बागवानी फसलों का बढ़ता दायरा

भारत बागवानी फसलों और फलों के सकल उत्पादन में दूसरे स्थान पर है। उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश और पश्चिम बंगाल बागवानी उत्पादन में शीर्ष राज्य हैं।

Horticultural Crops: बागवानी फसलों के उत्पादन का नया रिकॉर्ड: भारत सरकार के कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय ने, राज्यों/संघ राज्य क्षेत्रों और अन्य सरकारी एजेंसियों से प्राप्त जानकारी के आधार पर एकीकृत, बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन के संबंध में साल 2021-22 के अंतिम आंकड़े और साल 2022-23 के पहले अग्रिम अनुमान जारी किए हैं।

साल 2021-22 में कुल बागवानी फसलों के उत्पादन का रिकॉर्ड 347.18 मिलियन टन रहा, जो साल 2020-2021 के उत्पादन से 3.76 प्रतिशत की बढ़ोतरी = के साथ 12.58 मिलियन टन ज़्यादा है।  2022-23 में अनुमान लगाया जा रहा है कि साल 2021-22 के अन्तिम आंकड़ों की तुलना में 3.69 मिलियन टन (1.06%) की बढ़ोतरी के साथ कुल बागवानी उत्पादन रिकॉर्ड 350.87 मिलियन टन होने की संभावना है।

बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन के आए इस नए अनुमान पर केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व और मार्गदर्शन में हमारे किसान भाइयों-बहनों के अथक मेहनत, वैज्ञानिकों की कुशलता और केंद्र सरकार की किसान हितैषी नीतियों व राज्य सरकारों के सहयोग से देश में रिकॉर्ड उत्पादन संभव हो रहा है।

Kisan of India Youtube

बागवानी फसलों के क्षेत्र और उत्पादन के संबंध में 2021-22(अंतिम आंकड़े) की मुख्य बातें: 

  • 2021-22 में कुल बागवानी फसलों के उत्पादन का रिकॉर्ड 347.18 मिलियन टन हुआ, जो वर्ष 2020-21 के उत्पादन से लगभग 12.58 मिलियन टन (3.76%) ज़्यादा है।
  • 2021-22 में फलों का उत्पादन 107.51 मिलियन टन हुआ, जबकि 2020-21 में 102.48 मिलियन टन का उत्पादन हुआ था।
  • सब्जियों का उत्पादन पिछले साल के 200.45 मिलियन टन की तुलना में, 4.34% की बढ़ोतरी के साथ, 2021-22 में 209.14 मिलियन टन हुआ।
  • 2021-22 में प्याज का उत्पादन 31.69 मिलियन टन हुआ, जबकि 2020-21 में 26.64 मिलियन टन का उत्पादन हुआ था।
  • वर्ष 2021-22 में आलू का उत्पादन 56.18 मिलियन टन हुआ, जो इसके गत वर्ष करीब इतना ही था।

Kisan Of India Facebook Page

2022-23 (पहले अग्रिम अनुमान) की मुख्य बातें:

  • वर्ष 2022-23 में कुल बागवानी फसलों के उत्पादन 350.87 मिलियन टन होने का अनुमान है, जो 2021-22 (अंतिम) की तुलना में लगभग 3.69 मिलियन टन (1.06% अधिक) की बढ़ोतरी है।
  • फलों, सब्जियों, मसालों, फूलों, सुगंधित और औषधीय पौधों और वृक्षारोपण फसलों के उत्पादन में पिछले साल की तुलना में बढ़ोतरी का अनुमान है।
  • फलों का उत्पादन 2021-22 में 107.51 मिलियन टन की तुलना में 107.75 मिलियन टन होने का अनुमान है।
  • सब्जियों का उत्पादन 212.53 मिलियन टन होने का अनुमान है, जबकि 2021-22 में 209.14 मिलियन टन था।
  • प्याज का उत्पादन पिछले साल के 31.69 मिलियन टन की तुलना में 31.01 मिलियन टन होने का अनुमान है।
  • आलू का उत्पादन 59.74 मिलियन टन होने का अनुमान है, जबकि 2021-22 में यह 56.18 मिलियन टन था।
  • टमाटर का उत्पादन 2021-22 में 20.69 मिलियन टन की तुलना में 20.62 मिलियन टन होने का अनुमान है।
  • सुगंधित व औषधीय पौधों का उत्पादन 2021-22 में 664 हजार टन की तुलना में 680 हजार टन होने का अनुमान है।

Kisan of India Twitter

कुल बागवानी 2020-21
(
अंतिम)
2021-22(अंतिम) 2022-2023
(
प्रथम अग्रिम अनुमान)
क्षेत्रफल (मिलियन हेक्टेयर में) 27.48 28.04 28.28
उत्पादन (मिलियन टन में) 334.60 347.18 350.87

ये भी पढ़ें: क्या है बागवानी की हाई डेंसिटी तकनीक? किसानों की उपज हो रही दोगुनी, डॉ. बी.पी. शाही से जानिए इसके बारे में सब कुछ

Kisan Of India Instagram

सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।
मंडी भाव की जानकारी
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.