तकनीकी न्यूज़

bihar sunita prasad PVC pipe vertical garden वर्टिकल गार्डन
सब्जी/फल-फूल/औषधि, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल प्रबंधन, लाईफस्टाइल, वीडियो, सक्सेस स्टोरीज, सफल महिला किसान, सब्जियों की खेती, होम गार्डनिंग

Vertical Garden: वर्टिकल गार्डन बनाने के लिए PVC पाइप का इस्तेमाल किया, बिहार की सुनीता प्रसाद के इनोवेशन को मिला अवॉर्ड

बिहार के छपरा की रहने वाली सुनीता प्रसाद ने PVC पाइप और बांस की मदद से वर्टिकल गार्डन का पूरा कॉन्सेप्ट तैयार किया है। इस तरीके से कम जगह में ढेरों सब्जियां उगाई जा सकती हैं। जानिए उनके Innovation के बारे में।

स्पीड ब्रीडिंग तकनीक
कृषि उपज, गेहूं, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फसल न्यूज़, फसल प्रबंधन

स्पीड ब्रीडिंग तकनीक (Speed Breeding Technique) : जानिए गेहूं, जौ और चना जैसी फसलों की साल में 6 बार पैदावार कैसे लें?

पौधों को तेज़ी से उगाने की ‘स्पीड ब्रीडिंग’ तकनीक इतनी ज़बरदस्त पायी गयी कि किसान एक साल में गेहूँ, जौ, चना जैसी फसलों की 6 बार पैदावार ले सकते हैं। ये उपलब्धि गेहूँ, जौ जैसे अनाज और चना जैसे दलहन तक ही सीमित नहीं है बल्कि इसने कैनोला यानी Rape Seed जैसी तिलहनी फसल में भी उत्साहजनक नतीज़े दिये हैं। तभी तो इसकी साल में 4 फसलें ली जा सकती हैं।

गन्ने की फसल crop management in sugarcane
टेक्नोलॉजी, कृषि वैज्ञानिक, गन्ना, तकनीकी न्यूज़, फसल प्रबंधन

खड़ी गन्ने की फसल में इन बातों का रखेंगे ध्यान तो नहीं होगा नुकसान, जानिए कृषि विशेषज्ञों से अहम सलाह

गन्ने की खडी फसल का प्रबंधन कैसे करें? इस पर किसान ऑफ़ इंडिया ने उत्तर प्रदेश के कृषि विज्ञान केन्द्र बहराइच के कृषि विशेषज्ञ डॉ. बी.पी. शाही और डॉ. पी.के. सिंह से ख़ास बातचीत की।

एकीकृत कृषि मॉडल integrated farming model
न्यूज़, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, फसल प्रबंधन

एकीकृत कृषि मॉडल का दौरा करने पहुंची यूपी की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, डॉ. राजीव कुमार सिंह से जानिए कैसे अपनाएं IFS मॉडल

डॉ. राजीव कुमार सिंह कहते हैं कि एकीकृत कृषि मॉडल का मुख्य उद्देश्य किसानों की आमदनी को बढ़ाना है। किसान अपनी मुख्य फसल के साथ-साथ मुर्गी पालन, मछली पालन, मधुमक्खी पालन, रेशम कीट पालन, सब्जी-फल उत्पादन, मशरूम की खेती एक साथ एक जगह पर कर सकते हैं।

soil health smartphone technique ( मिट्टी की सेहत )
टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फसल प्रबंधन, मिट्टी की सेहत, मोबाइल ऐप्स

अब स्मार्टफ़ोन लगाएगा मिट्टी की सेहत का पता, खेती करना होगा आसान

मृदा स्वास्थ्य जांच की आधुनिक तकनीक में इमेज़ एनालिसिस के जरिये कम समय में मिट्टी की सेहत की सटीक जानकारी किसानों को मिल सकती है।

rajasthan farmer lemon variety ( रावलचंद पंचारिया नींबू की किस्म)
न्यूज़, अन्य सब्जी, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल न्यूज़, फसल प्रबंधन, सब्जियों की खेती, सब्जी/फल-फूल/औषधि

नींबू की नई किस्म: राजस्थान के इस किसान ने ईज़ाद की संतरे जितनी बड़ी Lemon Variety, एक पौधे से 10 पौधे बनाये

किसान ऑफ़ इंडिया से बातचीत में रावलचंद पंचारिया ने बताया कि उन्हें नींबू की नई किस्म को तैयार करने में चार से पांच साल का वक़्त लगा।

cabbage waste food products (पत्ता गोभी की खेती और कचरा)
तकनीकी न्यूज़, न्यूज़

पत्ता गोभी के कचरे का ऐसे भी हो सकता है इस्तेमाल, ICAR-IIHR ने ईज़ाद की ये तकनीक

चीन के बाद दुनिया में पत्ता गोभी का दूसरा सबसे बड़ा उत्पादक देश भारत है। भारत में लगभग 40 लाख टन पत्ता गोभी के पत्ते खेतों में अवशेष (Waste) के रूप में बर्बाद हो जाते हैं। ऐसे में ये तकनीक किसानों के लिए बड़े काम की हो सकती है।

एकीकृत कृषि integrated farming
तकनीकी न्यूज़, न्यूज़

एकीकृत कृषि में फसल चक्र अपनाना क्यों है ज़रूरी? डॉ. राजीव कुमार सिंह से जानिए कैसे अपनाएं IFS मॉडल

डॉ. राजीव कुमार सिंह बताते हैं कि प्रकृति की मार झेलते किसानों के लिए एकीकृत कृषि प्रणाली किसी वरदान से कम नहीं है। एक कृषि गतिविधि दूसरी गतिविधि को सहयोग करती है। इसमें कृषि से जुड़ी सारी गतिविधियां एक-दूसरे की पूरक होती हैं।

एकीकृत कृषि मॉडल
तकनीकी न्यूज़, न्यूज़

जानिए कैसे एकीकृत कृषि मॉडल से 5 गुना हो सकती है कमाई, डॉ. राजीव कुमार सिंह ने दी जानकारी

किसानों के लिए एकीकृत कृषि प्रणाली मॉडल किस तरह से वरदान साबित हो सकता है, इसके प्रचार-प्रसार में देश के कृषि वैज्ञानिक लगे हुए हैं। किसान ऑफ़ इंडिया ने भारतीय कृषि अनुसंधान सस्थान के एग्रोनॉमी डीवीजन के प्रधान वैज्ञानिक डॉ. राजीव कुमार सिंह से एकीकृत कृषि के बारे में विस्तार से बात की। 

धान संग मछली पालन ( rice fish farming )
कृषि उपज, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, धान, न्यूज़, फसल न्यूज़, फसल प्रबंधन, मछली पालन

धान की खेती के साथ मछली पालन, जानिए इस तकनीक के फ़ायदे

इस तकनीक के तहत धान की खेती के लिए जमा पानी में ही मछली पालन किया जाता है। धान संग मछली पालन प्रणाली में धान के खेत में जहां मछलियों को चारा मिलता है, वहीं मछली द्वारा निकलने वाले वेस्ट पदार्थ धान की फसल के लिए जैविक खाद का काम करते हैं।

हाई डेंसिटी तकनीक high density planting
न्यूज़, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल प्रबंधन

क्या है बागवानी की हाई डेंसिटी तकनीक? किसानों की उपज हो रही दोगुनी, डॉ. बी.पी. शाही से जानिए इसके बारे में सब कुछ

बागवानी की हाई डेंसिटी तकनीक (High Density Planting) क्या है? कैसे ये काम करती है? कैसे किसानों को इस तकनीक का फ़ायदा हो रहा है? इन सभी सवालों के जवाब दे रहे हैं उत्तर प्रदेश स्थित कृषि विज्ञान केन्द्र बहराइच के प्रमुख और सब्जी और बागवानी विशेषज्ञ डॉ. बी.पी. शाही। 

वर्मीकम्पोस्ट बिज़नेस - वर्मीकम्पोस्टिंग के गुरु अमित त्यागी से जानिए बेड बनाने के लिए कैसी होनी चाहिए मिट्टी और पानी?   
एग्री बिजनेस, जैविक/प्राकृतिक खेती, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, वर्मीकम्पोस्ट, वीडियो

वर्मीकम्पोस्ट बिज़नेस (vermicompost business) पर खास सीरीज़, पार्ट 1: वर्मीकम्पोस्टिंग के गुरु अमित त्यागी से जानिए बेड बनाने के लिए कैसी होनी चाहिए मिट्टी और पानी?   

वर्मीकम्पोस्ट बिज़नेस पर खास सीरीज़ में आपकी मुलाकात हो रही है उत्तर प्रदेश के मेरठ में रहने वाले अमित त्यागी से जो इस व्यवसाय के गुरु बन गए हैं। आप हमारी इस सीरीज़ में इस व्यवसाय से जुड़ी हर जानकारी के बारे में जानेंगे। 

retractable roof polyhouse technology ( पॉलीहाउस टेक्नोलॉजी )
टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फसल न्यूज़, फसल प्रबंधन

जानिए क्या है ‘रिट्रैक्टेबल रूफ़ पॉलीहाउस’ तकनीक (Polyhouse Technique), खेती को बनाए और फ़ायदेमंद

यह तकनीक जैविक खेती के लिए भी अनुकूल है। देश के सभी 15 विभिन्न कृषि-जलवायु क्षेत्रों में रिट्रैक्टेबल रूफ़ पॉलीहाउस तकनीक उपयोगी होगी, जो किसानों को गैर-मौसमी फसलों की खेती करने में मदद करेगा, जिससे वो उच्च मूल्य और आय प्राप्त कर सकते हैं।

केले की खेती (Banana Cultivation) panama wilt banana disease
केला, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फलों की खेती, फसल न्यूज़, सब्जी/फल-फूल/औषधि

केले की खेती (Banana Cultivation): गर्मी और ‘पीलिया’ रोग से कैसे बचाएं केले की फसल, कृषि वैज्ञानिक डॉ. अजीत सिंह से जानिए उन्नत तरीके

पिछले कुछ साल से केले की खेती कर रहे किसानों के लिए पनामा विल्ट रोग जी का जंजाल बना हुआ है। बगीचे में लगे पेड़ पनामा विल्ट रोग का शिकार हो रहे हैं। साथ ही गर्मी का असर भी केले की फसल पर पड़ रहा है। कैसे बचाएं इन दोनों से केले की फसल? जानिए डॉ. अजीत सिंह से.

फलों की खेती
अन्य फल, कृषि उपज, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फलों की खेती, फसल प्रबंधन, मिट्टी की सेहत, राज्य

देसी मिट्टी में विदेशी फलों की खेती से कैसे बढ़ाएं आमदनी, वैज्ञानिक कर रहे हैं शोध

भारत में विदेशी फलों की बढ़ती मांग किसानों की आय दोगुनी करने का अच्छा अवसर बन सकती है। स्वास्थ्य को लेकर विशेष गुणों के कारण इन फलों को लोग देसी फलों की तुलना में ज्यादा कीमत पर खरीद रहे हैं। इसे देखते हुए भारतीय कृषि वैज्ञानिक ये शोध कर रहे हैं कि किन फलों के लिए किस तरह की मिट्टी और जलवायु ज्यादा अनुकूल हो सकती है।

बायोगैस प्लांट Biogas Plant
अन्य खेती, तकनीकी न्यूज़, लाईफस्टाइल

बायोगैस प्लांट लगाकर पाएं ये फायदे, पैसे भी बचाएं

Biogas Plant – बायोगैस का उपयोग गांवों में खाना पकाने हेतु ईंधन और रोशनी की व्यवस्था करने के लिए किया जाता है। बायोगैस तकनीक के बाद अच्छी क्वालिटी की खाद प्राप्त होती है जो सामान्य खाद से ज्यादा बेहतर होती है। हालांकि इस गैस का उत्पादन जैविक प्रक्रिया (बायोलॉजिकल प्रॉसेस) द्वारा किया जाता है, यही कारण है कि इसे जैविक गैस भी कहा जाता है।

drip fertigation method for indian farmers
कृषि उपकरण, टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल प्रबंधन, सब्जी/फल-फूल/औषधि

आधुनिक पद्धतियों को अपनाकर बचाएं पानी और बढ़ाएं उत्पादन

हम आपको कृषि सिंचाई को बेहतर तरीके से करने की एक विधि के बारे में बता रहे हैं। वो है ड्रिप फर्टिगेशन की पद्धति। इस पद्धति से सिंचाई करने पर पैसे और पानी दोनों की बचत होती है। तो आइए जानते हैं Drip Fertigation के बारे में-

akash chaurasia story kheti se kamai kaise kare
टेक्नोलॉजी, तकनीकी न्यूज़, न्यूज़, फल-फूल और सब्जी, फसल प्रबंधन, सक्सेस स्टोरीज, सफल पुरुष किसान, सब्जी/फल-फूल/औषधि

खेती करके भी कमा सकते हैं लाखों रुपए, आकाश चौरसिया की इन टेक्निक्स को आजमाएं

यदि आपको बताया जाए कि खेती से आप लाखों रुपयों की इनकम कर सकते हैं, तो आपका सवाल होगा, वो कैसे? आज हम आपको इसी सवाल का जवाब देंगे। कम लागत में लाखों की इनकम करने के लिए हम आपको बुंदेलखंड के सागर जिले में रहने वाले आकाश चौरसिया के मल्टीलेयर खेती प्रोजेक्ट के बारे में बताएंगे।

Scroll to Top