किसानों का Digital अड्डा

Millets Products: कैसे बेटी की बीमारी ने मिलेट्स प्रॉडक्ट्स बनाने में दिखाई राह? GEGGLE की कहानी एक मां की ज़ुबानी

2022 में शुरू किया startup, बनाई मार्केट में जगह

इन दिनों हर कोई मिलेट्स प्रॉडक्ट्स को बढ़ावा देने में जुटा हुआ है। मिलेट्स प्रॉडक्ट्स को लोग हाथों हाथ ले रहे हैं। मिलेट्स प्रोडक्ट बनाने वाली एक ऐसी ही कंपनी है GEGGLE.

देश के हर कोने में मिलेट्स अभियान चल रहा है। प्रधानमंत्री के मिलेट्स को बढ़ावा देने की अपील के बाद सब इसी कोशिश में जुटे हैं कि कैसे मिलेट्स उत्पादों को घर-घर तक पहुंचाया जाए, ताकि लोगों की सेहत दुरुस्त रहे और किसान खुशहाल रहें। पिछले एक साल में कई कंपनियां सामने आई हैं जो मिलेट्स प्रॉडक्ट्स बना रही हैं और उनके उत्पाद लोकप्रिय भी हो रहे हैं।

ऐसी ही एक कंपनी है उत्तराखंड की GEGGLE, जिसे खड़ा किया है गुरप्रीत कौर ने। इस कंपनी की शुरुआत कैसे हुई और कंपनी क्या-क्या प्रॉडक्ट्स बनाती हैं इस बारे में गुरप्रीत ने विस्तार से बात की किसान ऑफ इंडिया के संवाददाता सर्वेश बुन्देली से।

बेटी की बीमारी ने दिखाई राह 

GEGGLE कंपनी की संस्थापक गुरप्रीत इसकी शुरुआत के बारे में बताते हुए कहती हैं, उनकी बेटी को सीलिएक नाम की बीमारी है, जिसमें पीड़ित को ग्लूटेन से एलर्जी होती है। इसलिए पिछले 12-13 सालों से वो बेटी को ग्लूटेन फ़्री डाइट (Gluten-Free Diet) दे रही हैं। उनका कहना है कि ऐसी चीज़ें आसानी से मिलती नहीं है और मिलती भी हैं तो बहुत महंगी होती हैं और स्वाद भी अच्छा नहीं होता। इसलिए उन्होंने सोचा क्यों न अपनी बेटी की तरह ही और दूसरे बच्चों के लिए कुछ हेल्दी बनाया जाए।

ऐसे बच्चे जिन्हें गेहूं या दूसरे तरह के अनाज से एलर्जी है, उनके लिए मिलेट्स प्रोडक्ट बनाने का आइडिया आया। सितंबर 2022 में उन्होंने GEGGLE की शुरुआत की।

मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products Geggle)
मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products by Geggle)

GEGGLE नाम के पीछे की कहानी

गुरप्रीत ने अपनी कंपनी का नाम GEGGLE ही क्यों रखा। इस बारे में उनका कहना है कि उनका और उनके पति दोनों का नाम G से शुरू होता है और उनकी एक बेटी का नाम भी G से शुरू होता है, जबकि दूसरे बेटी के नाम में EE और L है, तो इस तरह से सबके नाम के इनिशियल लेटर से मिलकर बना है GEGGLE।

कौन-कौन से उत्पाद बनाती है कंपनी और क्या है ख़ासियत?

गुरप्रीत कौर ने बताया कि उनकी कंपनी कई तरह के प्रॉडक्ट्स बनाती है। इसमें चपाती आटा काफ़ी मशहूर है। इसे उन्होंने भाभा एटोमिक रिसर्च सेंटर मुंबई के साथ मिलकर बनाया है। इस आटे की ख़ासियत ये है कि इसकी रोटी गेहूं के आटे की तरह ही बनती है। इसके साथ ही कंपनी इडली मिक्स, मिसी रोटी आटा, सूजी रिप्लेसर जो सोरगम से बना है, जैसे उत्पाद भी बेच रही हैं। इनकी ख़ासियत ये है कि ये सभी उत्पाद ग्लूटेन फ़्री हैं।

Kisan of india facebook

मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products Geggle)
मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products by Geggle)

विदेशियों को भी भाया ब्रेड का स्वाद

गुरप्रीत बताती हैं कि वो मल्टीग्रेन आटे के साथ ही कई तरह की कुकीज़, केक, ब्रेड आदि भी बनाती हैं। उनका ब्रेड ख़ासतौर पर लोगों को बहुत पसंद आ रहा है। यहां तक कि विदेशियों को भी इसका स्वाद बहुत भा रहा है। यही नहीं गुरप्रीत का कहना है कि उनकी कंपनी डायटिशियन के साथ मिलकर कस्टमाइज़्ड आटे बनाती हैं।

यानी किसी को अगर किसी ख़ास तरह के अनाज से एलर्जी है तो उस अनाज की जगह दूसरे अनाज का आटा बनाकर दिया जाता है। अपने बिज़नेस को बढ़ाने और ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक मिलेट्स को पहुंचाने के लिए वो ऑर्डर पर कुल्चा, समोसा, जलेबी, मोमोज़, सेलिब्रेशन केक जैसी चीज़ें भी बनाती हैं।

मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products Geggle)
मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products by Geggle)

Kisan of India Facebook

क्वालिटी से समझौता नहीं

गुरप्रीत का कहना है कि उनके बेकरी प्रोडक्ट्स 100% ग्लूटेन फ़्री हैं। इसमें गेहूं, मैदा, सूजी का इस्तेमाल बिल्कुल नहीं होता है। इसकी जगह ज्वार, रागी, चने का आटा, रेड राइस, व्हाइट राइस, इस्बगोल आदि का इस्तेमाल करते हैं। इससे उत्पाद की कीमत थोड़ी बढ़ जाती हैं। उनका कहना है कि उनके प्रॉडक्ट्स थोड़े महंगे ज़रूर है, मगर वो क्वालिटी से कभी समझौता नहीं करती हैं।

साथ ही वो बताती हैं कि ग्लूटने फ़्री (Gluten Free) होने की वजह से प्रॉडक्ट की सेल्फ लाइफ थोड़ी कम हो जाती है। ब्रेड 5 दिन तक और केक की 10 दिन तक इस्तेमाल किया जा सकता है। यही नहीं वो अपने प्रॉडक्ट्स को और हेल्दी बनाने के लिए चीनी की बजाय ऑर्गेनिक खांड का इस्तेमाल करती हैं।

मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products Geggle)
मिलेट्स प्रॉडक्ट्स (Millets Products by Geggle)

किसानों से खरीदती हैं

गुरप्रीत का कहना है कि दूसरे स्रोतों के साथ ही वो किसानों से भी अनाज खरीदती हैं और उनके यहां ही उसे साफ़ करके धोया और पीसा जाता है। गुरप्रीत कहती हैं कि कोई भी व्यक्ति जब पूरे जी-जान से मेहनत करके कोई काम करता है तो उसे सफलता ज़रूर मिलती है।

ये भी पढ़ें- Millets Products: कैसे मिलेट्स प्रॉडक्ट्स की ट्रेनिंग दे रहा कृषि विज्ञान केन्द्र? डॉ. रश्मि लिंबू से बातचीत

Kisan of India Instagram
सम्पर्क सूत्र: किसान साथी यदि खेती-किसानी से जुड़ी जानकारी या अनुभव हमारे साथ साझा करना चाहें तो हमें फ़ोन नम्बर 9599273766 पर कॉल करके या [email protected] पर ईमेल लिखकर या फिर अपनी बात को रिकॉर्ड करके हमें भेज सकते हैं। किसान ऑफ़ इंडिया के ज़रिये हम आपकी बात लोगों तक पहुँचाएँगे, क्योंकि हम मानते हैं कि किसान उन्नत तो देश ख़ुशहाल।
 

ये भी पढ़ें:

 
You might also like
Leave A Reply

Your email address will not be published.